आगरा में फिर उठा धूल भरा तूफान; हरियाणा-दिल्ली में बारिश

उत्तर भारत के राज्यों में बुधवार को फिर मौसम ने फिर करवट ली।  यूपी के मथुरा में तूफान के चलते दो लोगों की जान गई। उधर, आगरा में एक बार फिर धूलभरी आंधी चली। दिल्ली में तेज हवा के साथ बूंदाबांदी हुई तो हरियाणा में कई जिलों में तेज हवा के बारिश हुई और ओले गिरे। इधर, मेघालय में भी तेज हवाओं के साथ जोरदार बारिश हुई।

दिल्ली-एनसीआर में आंधी-तूफान

– बुधवार दोपहर दिल्ली में अचानक मौसम बदला। बादल छा गए और तेज हवा के साथ बूंदाबांदी हुई। उधर, हरियाणा में तेज हवाओं के साथ बारिश हुई, कई जगहों पर ओले भी गिरे।

– बता दें कि सोमवार रात को दिल्ली-एनसीआर समेत आसपास के जिलों में दूसरी बार धूल भरी आंधी चली। कुछ इलाकों में हल्की बारिश भी हुई। दिल्ली, हरियाणा में आंधी और राजस्थान के बीकानेर में बवंडर आया।

– बिहार, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, पंजाब में तेज आंधी-तूफान की आशंका जताई गई है।

मेघालय में भारी बारिश

– मेघालय में शाम को तेज हवाओं के साथ मूसलाधार बारिश हुई। इसके अलावा असम, मणिपुर, त्रिपुरा, नगालैंड, मिजोरम, तमिलनाडु, केरल और लक्षद्वीप में भी भारी बारिश की आशंका जाहिर की गई है।

उत्तर भारत में महसूस किए गए भूकंप के झटके

– शाम के वक्त दिल्ली, हरियाणा, कश्मीर समेत उत्तर भारत के कई राज्यों में भूकंप के झटके महसूस किए गए। इस भूकंप का केंद्र अफगानिस्तान-तजाकिस्तान सीमा पर जमीन से 97 किलोमीटर नीचे था। उधर, उत्तराखंड में मौसम साफ होने के बाद चारधाम की यात्रा एक बार फिर शुरू हो गई है।

उत्तराखंड में एक दिन बाद केदारनाथ यात्रा शुरू

– उत्तराखंड में चारधाम यात्रा एक दिन बाद फिर से शुरू हो गई है। सोमवार देररात से जारी बर्फबारी के बाद मंगलवार को यात्रा अस्थायी तौर पर रोक दी गई थी। प्रशासन के मुताबिक मंगलवार को मौसम साफ होने के बाद श्रद्धालुओं के जत्थे फिर से दर्शनों के लिए पहुंचने लगे हैं।

हिमस्खलन में एक शख्स की मौत
– गंगोत्री नेशनल पार्क के उप-निदेशक श्रवण कुमार ने बताया कि केदारताल से गंगोत्री 31 पर्यटकों का दल वापस लौट रहा था। इस दौरान हिमस्खलन हुआ और नेपाल के एक बोझ ढोने वाले शख्स की मौत हो गई।

श्रद्धालुओं के लिए रास्ते खोले गए

– चमोली के डीएम आशीष जोशी ने बताया कि बद्रीनाथ जाने वाले लम्बागढ़ के रास्ते में पुलिस और राहत बलों को लगाया गया है। मलबा गिरने के चलते ये रास्ता करीब 8 घंटे तक बंद रहा। रास्ता श्रद्धालुओं के लिए फिर से खोल दिया गया है।
– रुद्रप्रयाग के एसपी प्रहलाद मीना ने कहा कि केदारनाथ में भी मौसम साफ हो गया है और सुबह से ही श्रद्धालुओं का यहां आना जारी है।
– यमुनाोत्री जाने वाली ओजरी-डबारकोट सड़क सुबह 8.30 तक बंद थी, उसके बाद इसे खोल दिया गया है। उत्तरकाशी के डीएम आशीष चौहान ने कहा कि गंगोत्री और यमुनोत्री में श्रद्धालुओं के जत्थे जा रहे हैं और राहत दलों को सड़क साफ करने के उपकरणों के साथ तैनात किया गया है।