Breaking News

››  कांग्रेस के पक्ष में वातावरण को जीत में बदलना होगा : कमलनाथ ››  दिग्विजय सिंह पीसीसी में आज लेंगे समन्वय समिति की पहली बैठक ››  राज्यवर्धन ने पेले दण्ड तो एमपी BJP के राजेन्द्र ने जवाब में उठाया 110 किलो भार.. ››  कर्नाटक: कुमारस्वामी ने ली मुख्यमंत्री पद की शपथ , ››  समन्वय समिति में गौतम को शामिल किए जाने पर मंदसौर कांग्रेस इकाई में तेवर बागी,विधायक डंग का पीसीसी प्रतिनिधि पद से इस्‍तीफा ››  दिनभर यात्रियों हुए परेशान , शाम को बस हड़ताल समाप्‍त ››  बैतूल कलेक्टर को एफबी पर दी जान से मारने की धमकी देश के गृहमंत्री और बैतूल की सांसद के खिलाफ की आपत्तिजनक पोस्ट ››  भोपाल जिला कांग्रेस के अध्यक्ष की कमान कैलाश मिश्रा , अरुण श्रीवास्तव को ग्रामीण की कमान ››  कुमार होंगे कर्नाटक के स्वामी, 23 मई को लेगे मुख्यमंत्री पद की शपथ ››  मुख्यमंत्री जन-कल्याण योजना: गरीबों के इलाज की नि:शुल्क व्यवस्था की जायेगी: शिवराज

उन्नाव कांड: CBI ने लंबी पूछताछ के बाद BJP MLA कुलदीप सेंगर को किया गिरफ्तार

 

लखनऊ। उन्नाव कांड में सीबीआई ने भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को लंबी पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया। उनको तड़के सवा चार बजे घर से हिरासत में लिया गया था। दिनभर पूछताछ करने के साथ ही उन्नाव से सीबीआई की टीम ने अहम सबूत जुटाए। शनिवार को भाजपा विधायक को सीबीआई कोर्ट में पेश करेगी।

रो पड़े विधायक- सूत्रों के अनुसार विधायक से पूछा गया कि वह किशोरी के पिता की पिटाई के वक्त कहां थे और वारदात के बाद उन्होंने किन पुलिसकर्मियों से बातचीत की थी। सीबीआई ने विधायक से यह भी पूछा कि उन्होंने अपने आरोपित भाई अतुल सिंह के लिए किन-किन लोगों से पैरवी की थी। पूछताछ के दौरान विधायक कई बार रो भी पड़े। कई बार उनका तालू भी सूख गया। विधायक सीबीआइ केसामने तेवर भी बदलते रहे और कभी-कभी चिड़चिड़ाये भी। सीबीआइ ने बीच-बीच में कुछ देर के लिए सेंगर को अकेला भी छोड़ा।

उल्लेखनीय है कि शुक्रवार तड़के विधायक सीबीआइ के शिकंजे में आए। सीबीआइ विधायक को सुबह करीब 4:15 बजे उनके इंदिरानगर सी 1352 अरावली मार्ग स्थित आवास से उठा लाई और रात आठ बजे तक नवल किशोर रोड स्थित सीबीआइ मुख्यालय में विधायक से पूछताछ चलती रही। सीबीआइ ने विधायक के खिलाफ दर्ज तीनों केस में सिलसिलेवार पूछताछ की लेकिन गिरफ्तारी नहीं दिखाई थी। सीबीआइ के एसपी राघवेंद्र वत्स टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। उन्नाव के माखी गांव की किशोरी के मामले में मुकदमा दर्ज होने के बाद आरोपित भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को पकडऩे के साथ ही सीबीआइ टीम ने शुक्रवार को होटल में पीडि़ता और परिवारीजन से करीब चार घंटे तक पूछताछ कर बयान दर्ज किए। पूछताछ के बाद टीम ने एसपी उन्नाव से घटनाक्रम की जानकारी लेने के साथ ही गांव में जांच की।

शुक्रवार सुबह 10 बजे सीबीआई एसपी राघवेंद्र वत्स अपनी 10 सदस्यीय टीम के साथ सब्जीमंडी स्थित होटल पहुंचे। होटल में दूसरी मंजिल पर ठहरे परिवार से मिलने जाने के दौरान एएसपी अष्टभुजा प्रसाद भी साथ चले तो सीबीआइ टीम ने उन्हें रोक दिया और होटल कर्मी को लेकर पीडि़त परिवार के पास पहुंचे। टीम ने पीडि़ता व परिवारीजन से अलग-अलग बातचीत कर बयान दर्ज किए। दरअसल में गुरुवार रात करीब दो बजे ही सीबीआइ की चार सदस्यीय टीम माखी थाने पहुंच गई थी। यहां मामले से जुड़े सभी दस्तावेज पुलिस से लिए। देर शाम तक टीम की जांच जारी रही। टीम के फास्ट एक्शन को देखकर उन्नाव पुलिस दहशत में दिखी।

एसपी सीबीआई के साथ दोनों टीमें पहुंचीं गांव-

दोपहर करीब 2.30 बजे एसपी सीबीआई अपनी टीम के दो लोगों को होटल में रोक अन्य सदस्यों के साथ एसपी पुष्पांजलि से मिलने उनके आवास पहुंचे। उन्होंने एसपी से करीब आधा घंटे तक घटनाक्रम की जानकारी ली। इसके बाद वह माखी गांव पहुंचे। यहां से दूसरी टीम को साथ लेकर पुलिस अधिकारियों के साथ पीडि़ता के घर पहुंचे। घर में ताला लगा होने पर विधायक कुलदीप सेंगर के आवास के बाहर रुके और टीम से कुछ गुफ्तगू की। एसपी सीबीआइ ने पुलिस टीम से आरोपी शशि सिंह का घर पूछा और कुछ देर रुकने के बाद वापस थाने लौट गए। यहां से 4.40 बजे टीम उन्नाव आ गई, जबकि दूसरी टीम थाने में ही रुकी रही।

होटल में रही कड़ी सुरक्षा व्यवस्था-

फोर्स के साथ महिला थाना इंस्पेक्टर, दो दारोगा, पांच इंस्पेक्टर, सीओ सिटी, एएसपी के अलावा दोपहर 12 बजे से शाम चार बजे तक एसडीएम पुरवा पूजा अग्निहोत्री फिर शाम चार बजे सफीपुर एसडीएम कृपाशंकर होटल में मौजूद रहे। सुरक्षा की दृष्टि से होटल के गेट पर मेटल डिटेक्टर लगाया गया था। सभी को चेक करने के बाद ही अंदर जाने दिया गया। सीबीआई टीम ने होटल से जाते वक्त पुलिस को निर्देश दिए कि किसी को भी परिवार से न मिलने दें। परिवार ने किसी चीज की जरूरत बताई तो पुलिस अपने साथ होटल कर्मी को लेकर गई।

जिला अस्पताल में डॉक्टरों से पूछताछ-

सीबीआई टीम ने करीब दो घंटे तक जिला अस्पताल में जांच पड़ताल की। टीम के दो सदस्य दोपहर करीब 3:30 बजे के बाद जिला अस्पताल पहुंचे। उन्होंने सीएमएस डॉ. डीके द्विवेदी से बात करने के बाद फार्मासिस्ट एनके सिंह से बंदी के मेडिकल परीक्षण और भर्ती की रिपोर्ट मांगी। इसके साथ ही उसे भर्ती करने के बाद दिए गए उपचार का ब्यौरा लिया। इस दौरान बंदी का उपचार और मेडिकल परीक्षण करने वाले सभी डॉक्टरों को भी तलब किया गया।

सीएमएस डॉ. द्विवेदी से एक घंटे तक पूछताछ के बाद दुष्कर्म पीडि़ता के पिता को पुलिस द्वारा तीन अप्रैल को भर्ती कराने से लेकर वार्ड से जेल ले जाने के लिए डिस्चार्ज और इलाज के साथ अल्ट्रासाउंड व पोस्टमार्टम करने वाले डॉ. आलोक पांडेय, डॉ. गौरव अग्रवाल, डॉ. मनोज, डॉ. जेपी सचान, डॉ. एसएन गुप्ता, डॉ. एसके जौहरी के अलावा पोस्टमार्टम करने वाले डॉ. आरके चौरसिया, डॉ.डीपी सरोज से भी पूछताछ की। इलाज और पोस्टमार्टम संबंधी अभिलेख लिए। शाम करीब 5:30 बजे टीम अस्पताल से रवाना हुई तब डॉक्टरों ने राहत की सांस ली।

सीबीआई पर भरोसा, मिलेगा न्याय-

दुष्कर्म कांड आरोपित विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की गिरफ्तारी के बाद पीडि़त परिवार ने सीबीआई की जांच पर भरोसा जताया है। दुष्कर्म पीडि़त किशोरी के चाचा ने कहा कि घटना के कुछ वक्त बाद ही उन्होंने मामले को सीबीआई के सिपुर्द करने की मांग रखी थी लेकिन उस वक्त सरकार ने सुना ही नहीं वरना आज किशोरी का पिता और उनका भाई जीवित होता। पुलिस थाने तक में रिपोर्ट दर्ज करने को तैयार नहीं थी। अब सरकार ने मामले की सीबीआइ जांच के आदेश दे दिए तो उनका भरोसा बढ़ा है कि उन्हें उनके पूरे परिवार को इंसाफ मिलेगा। यदि गिरफ्तारी न होती तो आरोपी विधायक जांच को कभी भी किसी भी तरह से प्रभावित कर सकते थे, जो अब नहीं हो सकेगा।

पीड़िता के चाचा का कहना था कि उन्नाव पुलिस का बस चलता तो वह हम सभी लोगों को ही जेल भेज देती, लेकिन विधायक और आरोपितों पर आंच न आने देती। किशोरी के चाचा ने कहा कि जिले में विधायक का साम्राज्य फैला था, जो केवल लोगों के अंदर छिपे उनके खौफ के कारण ही चल रहा है। अब यह साम्राज्य खत्म होगा।

 
उन्नाव कांड: CBI ने लंबी पूछताछ के बाद BJP MLA कुलदीप सेंगर को किया गिरफ्तार