Breaking News

››  आज बरसाना में लट्ठमार होली खेलने पहुंचेंगे CM योगी ››  मुख्य सचिव से मारपीट मामले में केजरीवाल से पूछताछ कर सकती है पुलिस,आप का आज देशभर में प्रदर्शन ››  कोलारस ,मुंगावली उपचुनाव:कडी सुरक्षा के बीच मतदान शुरू ››  शराब की भयंकर आदी थी पूजा ,पिता ने ऐसे बदल दी जिंदगी ››  चुनाव आयोग ने CM को दी सलाह , माया सिंह को नोटिस, 25 तक मांगा जवाब, सिंधिया का जवाब संतोषप्रद नहीं,आयोग ने की निंदा ››  CS से बदसलूकी के विरोध में मध्यप्रदेश IAS एसोसिएशन, सरकार को बर्खास्त कर राष्ट्रपति शासन की उठाई मांग ››  कोलारस क्षेत्र को दी मुख्यमंत्री ने 1 हजार करोड़ की सौगातें : डॉ. मिश्रा ››  मुंगावली और कोलारस : कल शाम पांच बजे थम जाएगा चुनाव प्रचार, शिवराज के तूफानी दौरे, दिन-रात किए एक, ››  राज्यपाल की सुरक्षा में बड़ी चूक : काफिले में अचानक घुसी गाय, ››  रमन सरकार की मुश्किलें बढ़ाएंगे, 23 फरवरी को राजधानी घेरेने की तैयारी में किसान

चीन का पाक को झटका : भारत के लिए ‘CPEC’ का नाम बदलने को तैयार!

 

chinaभारत की संप्रभुता को ध्यान में रखते हुए चीन ने बड़ा ऐलान किया है। चीन अपने आर्थिक गलियारे चाइना-पाकिस्तान इकोनॉमिक कॉरिडोर के नाम को बदलने पर विचार कर रहा है। ये कॉरिडोर पाक अधिकृत कश्मीर से होकर गुजरेगा। भारत लगातार विरोध के साथ कह रहा है कि ये उसकी संप्रभुता पर प्रहार है। चीन के राजदूत लुओ झाहाई ने दिल्ली के यूनाइटेड सर्विस इंस्टिट्यूड में नाम बदलने पर विचार की बात कही। इस बीच कश्मीर पर पाकिस्तान को तगड़ा झटका देते हुए उसने साफ कर दिया है कि वो कश्मीर मुद्दे पर किसी भी तरह का दखल नहीं देगा। चीन ने साफ किया कि कश्मीर भारत-पाक के बीच आपसी मसला है, जिसे दोनों देश बातचीत के जरिए सुलझाएं।

लुओ ने साफ कर दिया है कि चीन, भारत को लेकर गंभीर है और कश्मीर को लेकर भारत के खिलाफ नहीं है।  भारत-पाक के कश्मीर और आतंकी मुद्दों के बीच में नहीं आना चाहता।  दरअस, इससे पहले चीन पर ये आरोप लगाए जा रहे थे कि आर्थिक गलियारे का ऐसा नाम रखकर वो पाक की आतंकी गतिविधियों को समर्थन कर रहा है।  मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यही कारण है कि चीन ने नाम बदलकर बता दिया है कि वो पाकिस्तान की किसी आतंकी गतिविधियों में उसके साथ नहीं है। इस बीच कश्मीर पर अपने रुख को लेकर लुओ ने चीनी मीडिया की अफवाहों को खारिज कर दिया। बताया जा रहा था कि सीपीईसी की वजह से इस क्षेत्र में अपने बढ़ते हितों के बाद चीन, कश्मीर पर अपना रुख बदल सकता है। इस पर लुओ ने कहा कि हमने अपना कोई रुख नहीं बदला है। उन्होंने कहा कि चीन किसी का पक्ष नहीं लेता, हां पर दोनों देशों में ये मामला सुलझ जाए इसकी उम्मीद जरूर करता है।

 
चीन का पाक को झटका : भारत के लिए ‘CPEC’ का नाम बदलने को तैयार!