नॉर्थ कोरिया, साउथ अफ्रीका के बाद अब डॉनल्ड ट्रंप के निशाने पर अगला देश कौन?

 वॉशिंगटन 
अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप + अपनी विदेश नीति को लेकर हमेशा चौंकाते रहे हैं। नॉर्थ कोरिया, साउथ अफ्रीका, चीन के साथ भारत और पाकिस्तान भी ट्रंप की नीतियों के प्रभाव झेल रहे हैं। खुद अमेरिका में भी ट्रंप एक के बाद एक कई फैसलों के लिए आलोचना का शिकार होते रहे हैं। शनिवार को एक बार फिर चर्चा में थे जब ट्रंप टावर के एक पूर्व दरबान ने दावा किया कि प्रेजिडेंट के एक हाउसकीपर का काम करनेवाली महिला से संबंध थे और इस संबंध को छुपाने के लिए उसे पैसे दिए गए थे। हालांकि, दुनिया के कई देशों के साथ रिश्तों के नए समीकरण जोड़ने के लिहाज से ट्रंप अक्सर खबरों में रहते हैं।  
 
दूसरे मुल्कों के साथ संबंधों को ट्रंप प्रशासन घरेलू परिस्थितियों को ध्यान में रखकर तय करते हैं। गुरुवार को साउथ अफ्रीका + में गोरे लोगों के नरसंहार की फेक न्यूज के कारण ट्रंप की काफी आलोचना हुई। शुक्रवार को अमेरिका के प्रेजिडेंट ने विदेश मंत्री के नॉर्थ कोरिया दौरे के रद्द होने का ऐलान किया। इस दौरे को रद्द करने की वजह उन्होंने नॉर्थ कोरिया के परमाणु निरस्त्रीकरण की दिशा में पर्याप्त प्रगति नहीं होने के लिए चीन को जिम्मेदार ठहराया। 

 
मेक्सिको में हुए हालिया चुनाव में वामपंथी नेता अंद्रेस मानुएल लोपेज ओब्रादोर + की शानदार जीत हुई है। शनिवार को ट्रंप ने चौंकाते हुए एक और घोषणा की। ट्रंप ने ट्विटर पर ऐलान किया, 'मेक्सिको के साथ हमारे संबंध लगातार प्रगाढ़ हो रहे हैं और मेक्सिको के साथ जल्दी ही एक बड़ा व्यापार समझौता हो सकता है।' 
 
ट्रंप की नीतियों को देखते हुए एक बात तो स्पष्ट है कि विभिन्न वैश्विक मुद्दों पर अमेरिकी राष्ट्रपति किसी तयशुदा मानकों के आधार पर नहीं चल रहे हैं। उदाहरण के लिए साउथ अफ्रीका के बारे में दिया उनका बयान पूरी तरह से हतप्रभ करनेवाला था। उनके आलोचक भी इससे हैरान हैं। हालांकि, इसके बावजूद ट्रंप की पत्नी मेलानिया ट्रंप ने साउथ अफ्रीका दौरे पर जाने वाली हैं, जबकि ट्रंप ने अपने एक बयान में अफ्रीकी देशों को 'बेहद गंदा (शिटहोल)' करार दिया था।