फरार होने के लिए कैदी अस्पताल की पांचवीं मंजिल से कूदा

 

भोपाल।नाबालिग से ज्यादती का आरोपित सेंट्रल जेल का कैदी शुक्रवार को शाम पौने पांच बजे कमला नेहरू अस्पताल से फरार होने की कोशिश में पांचवीं मंजिल से कूद गया। इसमें उसके सिर और शरीर के नाजुक अंगों में गंभीर चोट लगी है। उसे ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया है। जहां उसकी हालत नाजुक बनी हुई है।

कोहेफिजा टीआई हरीश यादव के अनुसार ग्राम बेरखेड़ी थाना बादरी तहसील खुरई जिला सागर का रहने वाला 22 वर्षीय हनुमंत पिता रामसेवक आदिवासी को शुक्रवार सुबह आंख के ऊपर चोट लगने के कारण हमीदिया अस्पताल इलाज के लिए लाया गया था। कमला नेहरू अस्पताल के नेत्र विभाग में कैदी का उपचार किया जा रहा था।

आधे घंटे तक किसी को खबर नहीं थी

चश्मदीद अयान खान ने बताया कि कैदी जब जमीन पर आकर गिरा तो आधे घंटे तक वहीं पड़ा रहा। किसी को उसके बारे में खबर ही नहीं थी कि वह कौन है, लेकिन मैंने देखा कि उसके हाथ में हथकड़ी लगी हुई है। तब डॉक्टर और बाकी लोगों को बताया। इसके बाद कोहेफिजा थाने और अस्पताल के स्टाफ ने उसे उठाकर ट्रामा में भर्ती कराया है। वहां उसकी हालत स्थिर है।

मार्च में सेंट्रल जेल भेजा गया था

– जेल प्रबंधन के अनुसार 10 मार्च 2018 को कैदी हनुमंत को एडीजे कोर्ट खुरई ने अपराध क्रमांक 485/17 की धारा 376, 341,323, 506 और पॉक्सो एक्ट के तहत सेंट्रल जेल भोपाल भेजा गया। तब से वह सेंट्रल जेल में बंद था।

पहले भी कर चुका है भागने की कोशिश

हनुमंत पहले भी अस्पताल में उपचार के लिए आता रहा है। उस समय भी उसने वाहन से कूदकर भागने की कोशिश की थी, लेकिन तब पुलिस को इस घटना की सूचना नहीं दी गई थी।

जेल प्रहरी को झटका देकर हथकड़ी समेत लगाई छलांग, गंभीर

22 वर्षीय हनुमंत का जब इलाज किया जा रहा था। उस समय एक जेल प्रहरी उसकी सुरक्षा में तैनात था। उसी समय वह हथकड़ी को झटका देकर भाग गया था। इसके बाद अस्पताल की पांचवीं मंजिल की खिड़की से सामने की चार मंजिला इमारत की छत पर फरार होने के इरादे से कूद गया। लेकिन वह दूसरी छत तक पहुंच नहीं पाया और दोनों बिल्डिंग के बीच के पोर्च में सीवर के चैंबर के ऊपर जाकर गिर गया। इससे उसके सिर और छाती में गंभीर चोट लगी।

 
फरार होने के लिए कैदी अस्पताल की पांचवीं मंजिल से कूदा