Breaking News

››  जब तक सदाचार नहीं बढ़ेगा तब तक दुराचार और भ्रष्टाचार नहीं मिटेगा : बाबा रामदेव ››  जबलपुर में केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर बोले- लोकतंत्र की प्राथमिक पाठशाला है पंचायत ››  प्रधानमंत्री मंडला में पंचायत राज दिवस और आदि महोत्सव में शामिल होंगे ››  रेप की घटनाओं के लिए पोर्न साइट्स जिम्मेदार : भूपेंद्र सिंह ››  ‘संविधान बचाओ’ अभियान में राहुल का मोदी पर हमला, कहा- खुद की बात करते हैं पीएम ››  आरक्षण के विरोध में ब्राह्मण समाज ने अर्धनग्न होकर किया प्रदर्शन, ››  नए नियमों से पहली बार 14 सेवानिवृत्त तहसीलदारों को संविदा नियुक्ति ››  अक्षय तृतीया के अवसर पर सेवा समर्पण संस्थान का कन्या विवाह समारोह सम्पन्न सहरिया समाज के 24 जोडों का दाम्पत्यि जीवन में प्रवेष ››  धूमधाम से मनाया गया भगवान परशुराम जन्मोंत्सव , 501 दीपों से की गई भगवान परशुराम की आरती ››  राकेश सिंह ने संभाला प्रदेशाध्यक्ष का पदभार

भाजपा सरकार की सच्चाई धीरे-धीरे जनता के सामने आने लगी: अखिलेश यादव

 

Akhilesh_Yadav_समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने  गुरुवार को कहा कि भाजपा के नोटबंदी व जीएसटी से जनता उलझ कर रह गई है। भाजपा सरकार की सच्चाई धीरे-धीरे जनता के सामने आने लगी है। उनके बजट में जनता के हित में कुछ भी नहीं है।

अखिलेश पार्टी मुख्यालय में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि जीएसटी व्यवस्था किसी की समझ में नहीं आ रही है। यह बड़े कारोबारियों के फायदे के लिए है। यूपी सरकार की किसानों की कर्जमाफी भूलभुलैया की भेंट चढ़ जाएगी। यह किसानों के साथ धोखा है। समाजवादी सरकार की जनहित की योजनाएं एक-एक कर बंद की जा रही हैं। उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा कि ऐसा लगता है कि भाजपा सरकार ‘मंत्र’ से ही सभी समस्याओं का समाधान कर देगी। उन्होंने कहा कि भाजपा का उद्देश्य वोट के लिए नफरत फैलाना है। उसके झूठ फैलाने से लड़ाई है। यह बड़ी लड़ाई है। भाजपा ने दिवाली और रमजान, श्मशान और कब्रिस्तान के सवाल उठाकर जनता को भ्रमित किया। भाजपा राज में अपराध बढ़े हैं। अपराध नियंत्रण का दावा करने वाले मुख्यमंत्री को बताना चाहिए कि उनकी सरकार ने कितने बड़े अपराधियों, भूमाफियाओं और भ्रष्टाचारियों को पकड़ा है। कहा, प्रदेश की विकास दर 6 प्रतिशत बताई गई, जबकि देश की तरक्की में मुस्लिमों के सहयोग को हटा दे तो यह 2 प्रतिशत ही रह जाएगी।

 
भाजपा सरकार की सच्चाई धीरे-धीरे जनता के सामने आने लगी: अखिलेश यादव