Breaking News

››  जब तक सदाचार नहीं बढ़ेगा तब तक दुराचार और भ्रष्टाचार नहीं मिटेगा : बाबा रामदेव ››  जबलपुर में केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर बोले- लोकतंत्र की प्राथमिक पाठशाला है पंचायत ››  प्रधानमंत्री मंडला में पंचायत राज दिवस और आदि महोत्सव में शामिल होंगे ››  रेप की घटनाओं के लिए पोर्न साइट्स जिम्मेदार : भूपेंद्र सिंह ››  ‘संविधान बचाओ’ अभियान में राहुल का मोदी पर हमला, कहा- खुद की बात करते हैं पीएम ››  आरक्षण के विरोध में ब्राह्मण समाज ने अर्धनग्न होकर किया प्रदर्शन, ››  नए नियमों से पहली बार 14 सेवानिवृत्त तहसीलदारों को संविदा नियुक्ति ››  अक्षय तृतीया के अवसर पर सेवा समर्पण संस्थान का कन्या विवाह समारोह सम्पन्न सहरिया समाज के 24 जोडों का दाम्पत्यि जीवन में प्रवेष ››  धूमधाम से मनाया गया भगवान परशुराम जन्मोंत्सव , 501 दीपों से की गई भगवान परशुराम की आरती ››  राकेश सिंह ने संभाला प्रदेशाध्यक्ष का पदभार

मिल सकता है दिवाली पर सस्ते लोन का गिफ्ट

 

index-nरिजर्व बैंक गवर्नर उर्जित पटेल करोड़ो देशवासियों को अगले महीने दिवाली से पहले सस्ती ईएमआई का गिफ्ट दे सकते हैं। इससे होम और अन्य लोन की ईएमआई घटेगी और रियल एस्टेट सेक्टर में भी जान आने की संभावना है। 4 अक्टूबर को पटेल पहली बार आरबीआई की मौद्रिक नीति की समीक्षा करेंगे जिसके बाद हो सकता है कि रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट में 0.25 फीसदी की कटौती की जाएं। ऐसा इसलिए होगा क्योंकि सरकार ने जो आंकड़े सोमवार को जारी किए हैं उसके अनुसार रिटेल महंगाई में कमी आई है और औद्योगिक उत्पादन दर में भी कमी देखी गई है।

5 फीसदी पर पहुंची महंगाई दर

खुदरा मुद्रास्फीति अगस्त में करीब एक फीसदी घटकर 5.05 फीसदी रही। जुलाई में यह 6.07 फीसदी थी। इससे उपभोक्ताओं को राहत मिली है। हालांकि, जुलाई में औद्योगिक वृद्धि दर की गिरावट ने निराश किया है। सोमवार को सरकार की ओर जारी आंकड़ों में यह बात सामने आई है। आंकड़ों के मुताबिक इस साल जुलाई में औद्योगिक उत्पादन दर (आईआईपी) में 2.4 फीसदी की गिरावट आई है। साथ ही इस साल अप्रैल-जुलाई अवधि में भी इसमें 0.2 फीसदी की गिरावट आई है।

विशेषज्ञों ने जताई यह उम्मीद

आर्थिक विशेषज्ञों का कहना है कि खुदरा महंगाई से राहत और औद्योगिक उत्पादन में सुस्ती को देखते हुए रिजर्व बैंक अगली मौद्रिक समीक्षा में ब्याज दरों में कटौती कर सकता हैं। अगली मौद्रिक समीक्षा 4 अक्तूबर को होगी जो रिजर्व बैंक के नए गवर्नर उजिर्त पटेल की पहली मौद्रिक समीक्षा होगी। जुलाई में विनिर्माण क्षेत्र में गिरावट ज्यादा देखी गई है। विनिर्माण क्षेत्र की 22 श्रेणियों में 12 में जुलाई में गिरावट देखी गई है। विनिर्माण क्षेत्र देश में सबसे अधिक सीधे तौर पर रोजगार देने वाला क्षेत्र है।

 
मिल सकता है दिवाली पर सस्ते लोन का गिफ्ट