Breaking News

››  भगवान महाकाल का आशीर्वाद लेकर प्रारंभ होगी जनआशीर्वाद यात्रा ››  20 हजार फीट की ऊंचाई पर विमान का फ्यूल प्वाइंट लीक, भोपाल में इमरजेंसी लैंडिंग ››  आखिरी मानसून सत्र : पेश होंगे एक दर्जन से ज्यादा विधेयक ››  फरार होने के लिए कैदी अस्पताल की पांचवीं मंजिल से कूदा ››  कैबिनेट बैठक : किसानों के लिए लाई गई मुख्यमंत्री जनकल्याण (संबल) योजना 2018 को मिली मंजूरी ››  ई-टेंडरिंग घोटाला उजागर करने की सजा, रस्तोगी से छीना आईटी विभाग ››  मुख्यमंत्री 15 जून को दतिया मेडिकल कॉलेज का लोकार्पण करेंगे ››  इंदौर में संत भय्यू महाराज ने की गोली मारकर आत्महत्या, ››  93 साल के अटलजी की हालत स्थिर, इंफेक्शन ठीक होने तक अस्पताल में रहेंगे ››  शाह का जबलपुर दौरा, चुनाव प्रबंध समिति की बैठक लेंगे

मुंगावली और कोलारस उपचुनाव के वोटों की गिनती जारी ; दो सीटों पर कांग्रेस आगे

 

भोपाल.  अशोकनगर जिले की मुंगावली और शिवपुरी जिले की कोलारस विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव के नतीजे बुधवार को आएंगे। वोटों की काउंटिंग जारी है। दूसरे राउंड की गिनती के बाद मुंगावली में कांग्रेस के बृजेंद्र सिंह यादव और कोलारस में कांग्रेस के कोलारस उपचुनाव को लेकर मतगणना जारी है। 5वें चरण की गणना के बाद भी कांग्रेस के महेंद्र सिंह यादव की बढ़त बरकरार है। महेंद्र सिंह यादव 2474 वोटों से आगे चल रहे हैं। पांच दौर की मतगणना में कांग्रेस के महेंद्र सिंह यादव को कुल 19430 वोट मिले हैं जबकि भाजपा के देवेंद्र कुमार जैन को 17037 वोट मिले हैं। अब तक गणना में ये तथ्य सामने आया है कि भाजपा को धाकड़ बाहुल्य इलाकों में कड़ी हार का सामना करना पड़ा है। जो आंकड़े सामने आ रहे पनवारी, मोहरसी, खेराई, चंडोरिया, सिंघरै में कांग्रेस के पक्ष में वोट पड़े और ये इलाके ही कांग्रेस के लिए फिलहाल निर्णायक साबित हो रहे हैं। फिलहाल 5 चरणों की अब तक की मतगणना के बाद कांग्रेस 2142 वोटोंं से आगे है।

इससे पहले कुल डाक मतमत्रों में से कांग्रेस को 8 और भाजपा को 5 मिले, जबकि एक डाक मतपत्र निरस्त कर दिया। हालांकि कांग्रेस कार्यकर्ताओं के हंगामे के बाद रोकी गई मतगणना फिर शुरू कर दी गई है। आपको बता दें कि कांग्रेस प्रत्येक राउंड की गणना का प्रमाण पत्र मांग कर रही थी जिसे लेकर मतगणना स्थल पर हंगामे की स्थिति बन गई। इसके बाद प्रशासन ने मतगणना रोककर काउंटिंग स्थल के मुख्य द्वार पर फोर्स बढ़ा दी थी। अधिकारियों ने चर्चा कर कांग्रेसी नेता-कार्यकर्ताओं को समझाया जिसके बाद मतगणना फिर शुरू हुई। कोलारस में 22 उम्मीदवार मैदान  में हैं और कुल 23 राउंड में मतों की गिनती जारी है। यहां मुख्य मुकाबला भाजपा के देवेंद्र कुमार जैन और कांग्रेस के महेंद्र सिंह यादव के बीच मुख्य मुकाबला है। इसके अलावा 19 उम्मीदवार निर्दलीय के तौर पर मैदान में उतरे है।

शासकीय आईटीआई कॉलेज में जारी मतगणना के लिए जिला प्रशासन ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हैं। वोटों की गिनती के लिए यहां कुल 14 टेबलें लगाई गई हैं और हर टेबल के लिए माइक्रो आब्जर्वर, गणना पर्यवेक्षक, गणना सहायक और 2 कर्मचारियों को तैनात किया गया है।

कोलारस में 244457 मतदाताओं में से 172115 ने वोट डाले हैं।

क्यों हुए इन सीट पर चुनाव?
1) मुंगावली सीट

– 2013 में इस सीट पर कांग्रेस के महेंद्र सिंह कालूखेड़ा जीते थे। सितंबर 2017 में उनका निधन होने से यह सीट खाली हो गई थी। कांग्रेस ने बृजेंद्र सिंह यादव और बीजेपी ने बाई साहब यादव को अपना उम्मीदवार बनाया।
– मुंगावली के वोटर ने 1985 से कभी लगातार दो बार किसी एक पार्टी को मौका नहीं दिया है। 1985 से 2013 के बीच यहां सात बार चुनाव हुए। इनमें चार बार कांग्रेस तो तीन बार बीजेपी कैंडिडेट को जीत मिली।

2) कोलारस सीट
– कोलारस कांग्रेस की परंपरागत सीट है। पार्टी के विधायक रामसिंह यादव के निधन से यह सीट खाली हुई थी। कांग्रेस ने रामसिंह के बेटे महेंद्र सिंह को मैदान में उतारा। वहीं, बीजेपी ने देवेंद्र कुमार को अपना उम्मीदवार बनाया।

ये विधानसभा चुनाव का सेमीफाइनल क्यों है?
कांग्रेस के लिए: मुंगावली और कोलारस सीट गुना लोकसभा क्षेत्र के तहत आती हैं। यहां से ज्योतिरादित्य सिंधिया सांसद हैं। दोनों सीट पर कांग्रेस के उम्मीदवार ज्योतिरादित्य सिंधिया के करीबी हैं। सिंधिया ने कांग्रेस प्रत्याशियों के पर्चा दाखिले से लेकर मतदान तक दोनों विधानसभा क्षेत्रों में ताबड़तोड़ 75 सभाएं और रैलियां कीं।

बीजेपी के लिए: बीजेपी ने इन दो सीटों के लिए पूरी ताकत झोंक दी थी। ज्योतिरादित्य सिंधिया के मुकाबले उनकी बुआ यशोधरा राजे सिंधिया को प्रचार में उतारा था। सीएम ने यहां 45 सभाएं कीं।

 
मुंगावली और कोलारस उपचुनाव के वोटों की गिनती जारी ; दो सीटों पर कांग्रेस आगे