Breaking News

››  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के गांव जैत पहुचे दिग्विजय सिंह.. CM के बडे भाई मस्साब ने किया दिग्गी का स्वागत ››  आनंदीबेन पटेल ने ली राज्यपाल पद की शपथ ››  दुनिया की समस्याओं का हल आदि शंकराचार्य के एकात्मवाद में: शिवराज सिंह ››  कल रिटायर हो रहे ए के ज्‍योति की जगह लेंगे रावत ››  योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल पहुंचे, श्री गोरखनाथ कॉलेज ऑफ नर्सिंग का शपथ समारोह में ››  फरवरी में हो सकता है राहुल गांधी की टीम का एेलान ››  आप के 20 विधायक अयोग्य: केजरीवाल ने मोदी सरकार पर बोला हमला – पूरे देश में इनको मैं ही करप्ट मिला ››  स्व. श्रीनिवास तिवारी का जीवन ज्ञान और कर्म का अद्भुत संगम था : मुख्यमंत्री श्री चौहान ››  लंबे समय से शिक्षकों के प्रदर्शन के बाद शिवराज ने मानी मांग, महिलाओं ने मुंडन तक कराया था ››  विकास के लिए सुरक्षित समाज जरूरी: मुख्यमंत्री

शिया वक्फ बोर्ड ने मसौदा किया पेश: अयोध्या में बने राम मंदिर और लखनऊ में मस्जिद,

 

उत्तर प्रदेश शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने कहा कि अयोध्या में भव्य राम मंदिर बने और लखनऊ में मस्जिद। शिया वक्फ बोर्ड राष्ट्रहित में विवाद समाप्त करने के लिए विवादित भूमि को पूरी तरह छोड़ने को तैयार है। साथ ही भविष्य में भी शिया वक्फ बोर्ड कस्टोडियन होने के नाते इस राम मंदिर पर कोई आपत्ति नहीं करेगा। शिया वक्फ बोर्ड ने अयोध्या विवाद को शांतिपूर्ण ढंग से सुलझाने के लिए आपसी सुलह का पांच बिंदुओं का मसौदा तैयार कर लिया है। वक्फ बोर्ड ने 18 नवंबर को इस मसौदे को सुप्रीम कोर्ट में भी पेश कर दिया है।

सोमवार को पत्रकारों से बातचीत में वसीम रिजवी ने कहा कि अयोध्या में मस्जिद बनाने का कोई मतलब नही है। अयोध्या मंदिरों का शहर है। इसलिए अयोध्या-फैजाबाद के बजाय लखनऊ में मस्जिद बनाई जाए। इसके लिए वक्फ बोर्ड ने लखनऊ में हुसैनाबाद स्थित घंटाघर के सामने एक एकड़ नजूल की भूमि सरकार से देने की मांग की। इसका नाम मस्जिद-ए-अमन रखा जाएगा।

शिया वक्फ बोर्ड ने राम मंदिर से जुड़े पक्षकारों के समक्ष यह मसौदा पेश किया है। वसीम रिजवी का दावा है कि इस समझौते पर अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेन्द्र गिरि, हनुमान गढ़ी के महंत धर्मदास, राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास, राम जन्मभूमि न्यास के राम विलास वेदांती, दिगंबर

अखाड़ा के महंत सुरेश दास, विश्र्व हिदू परिषद के मार्गदर्शक डॉ. रामेश्र्वर दास ने अपनी सहमति जताई है। इस मौके पर नरेन्द्र गिरि ने कहा कि हम शिया वक्फ बोर्ड के फैसले का स्वागत करते हैं। इस मामले में शिया वक्फ बोर्ड ने न्यायालय में भी अपना पूरा पक्ष रखा। इसके लिए हिदू समाज आभारी रहेगा।

 

 
शिया वक्फ बोर्ड ने मसौदा किया पेश: अयोध्या में बने राम मंदिर और लखनऊ में मस्जिद,  
 
 

0 Comments

You can be the first one to leave a comment.

 
 

Leave a Comment