Breaking News

››  CM शिवराज सिंह ने किया IAS अफसरों का चुनावी फेरबदल ,पुराने अधिकारियों पर जताया भरोसा ››  उज्जैन किसान सम्मेलन : किसानों पर कोई संकट नहीं आने दिया जाएगा: शिवराज सिंह ››  अस्पताल ने वसूले डेंगू पीड़ित से 18 लाख, फिर भी नहीं बची जान ››  पेट्रोल पंप में अब शौचालय बनाना अनिवार्य ››  राजधानी के तापमान में गिरावट शुरू, उत्तर-पूर्वी हवा से बढ़ी ठंडक ››  निकाय चुनाव: पहले चरण का प्रचार खत्म, 22 नवंबर को 5 नगर निगम समेत 230 निकायों में वोटिंग । ››  प्रत्यर्पण केस: भारत में मेरी जान को खतरा : विजय माल्या ››  शिया वक्फ बोर्ड ने मसौदा किया पेश: अयोध्या में बने राम मंदिर और लखनऊ में मस्जिद, ››  मध्यप्रदेश में फिल्म पद्मावती रिलीज नहीं होगी, सीएम ने कहा पद्मावती राष्ट्रमाता …. ››  हाईकोर्ट ने धार विधायक नीना वर्मा का चुनाव शून्य घोषित किया

सरकारी खर्च पर विदेश में कोचिंग करेंगे खिलाड़ी

 

images rayरायपुर 16 साल बाद प्रदेश की खेल नीति बदलने जा रही है। नई खेल नीति में प्रदेश के खिलाड़ियों को विदेश में कोचिंग मिलेगी। कोचिंग का पूरा खर्च खेल विभाग उठाएगा। अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय स्तर गोल्ड मेडल लाने वाले खिलाड़ियों को खेल निखारने पॉलिसी लागू की जाएगी। वहीं खिलाड़ियों के लिए नौकरी में 2 प्रतिशत आरक्षण का नियम लागू किया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि खेल नीति बनकर तैयार है। 29 अगस्त को अंतरराष्ट्रीय खेल दिवस पर लागू की जाएगी। बता दें कि प्रदेश के अलग-अलग खेल संघों से आए सुझाव के बाद खेल नीति संशोधन कर बनाई गई है। इसमें सबसे अहम उन बिन्दुओं को ध्यान में रखा गया है, जिससे खेल और खिलड़ियों का विकास हो सके।

नेशनल स्तर की कोचिंग और किट प्रदेश में

रायपुर, दुर्ग-भिलाई, बिलासपुर और राजनांदगांव में खेल विभाग नई खेल नीति की तहत नेशनल स्तर की कोचिंग देने की तैयारी कर रहा है। जहां उच्च स्तर के कोच, स्पोर्ट्स किट खिलाड़ियों को उपलब्ध करवाई जाएगी। स्पेशल कोचिंग की सुविधा उन खिलाड़ियों को मिलेगी, जो लगातार नेशनल और इंटरनेशन में बेहतर परफॉर्मेंस कर रहे हैं।

ओलिंपिक गेम्स पर फोकस

खेल विशेषज्ञों का मानना है कि जो खेल नीति लागू होने जा रही है, उसका पूरा फोकस ओलिंपिक गेम्स पर है। खिलाड़ियों को उसी लेवल पर तैयार किया जाएगा। इसमें सबसे खास बात है कि खेल विभाग ओलिंपिक गेम्स पर ज्यादा ध्यान दे रहा है। पिछले कुछ वर्षों में जिन खेलों में खिलाड़ियों ने बेहतर प्रदर्शन कर गोल्ड मेडल अपने नाम किया उन्हें स्पेशल सुविधाएं मुहैया करवाई जाएंगी। वहीं आगामी नेशनल गेम्स पर भी फोकस होगा। जिन खेलों में पिछले वर्ष सिल्वर तक सीमित रह गए थे उन्हें गोल्ड की तैयारी करवाई जाएगी।

इनका कहना है

नई खेल नीति बनकर तैयार है। खेल विभाग ने ओलिंपिक खेलों को ध्यान में रख पॉलिसी को लागू करेगा। विदेशों में कोचिंग भी खिलाड़ियों को दी जाएगी।

-राजेंद्र डेकाटे, सहायक संचालक, खेल विभाग

 
सरकारी खर्च पर विदेश में कोचिंग करेंगे खिलाड़ी  
 
 

0 Comments

You can be the first one to leave a comment.

 
 

Leave a Comment