Breaking News

››  आज बरसाना में लट्ठमार होली खेलने पहुंचेंगे CM योगी ››  मुख्य सचिव से मारपीट मामले में केजरीवाल से पूछताछ कर सकती है पुलिस,आप का आज देशभर में प्रदर्शन ››  कोलारस ,मुंगावली उपचुनाव:कडी सुरक्षा के बीच मतदान शुरू ››  शराब की भयंकर आदी थी पूजा ,पिता ने ऐसे बदल दी जिंदगी ››  चुनाव आयोग ने CM को दी सलाह , माया सिंह को नोटिस, 25 तक मांगा जवाब, सिंधिया का जवाब संतोषप्रद नहीं,आयोग ने की निंदा ››  CS से बदसलूकी के विरोध में मध्यप्रदेश IAS एसोसिएशन, सरकार को बर्खास्त कर राष्ट्रपति शासन की उठाई मांग ››  कोलारस क्षेत्र को दी मुख्यमंत्री ने 1 हजार करोड़ की सौगातें : डॉ. मिश्रा ››  मुंगावली और कोलारस : कल शाम पांच बजे थम जाएगा चुनाव प्रचार, शिवराज के तूफानी दौरे, दिन-रात किए एक, ››  राज्यपाल की सुरक्षा में बड़ी चूक : काफिले में अचानक घुसी गाय, ››  रमन सरकार की मुश्किलें बढ़ाएंगे, 23 फरवरी को राजधानी घेरेने की तैयारी में किसान

चीन नहीं भारत बनेगा आर्थिक दुनिया का नेता

 
harvard-universityभारत के लिए एक अच्छी खबर है। जल्दी ही वह चीन को पछाड़कर वैश्विक आर्थिक विकास की धुरी बन जाएगा। आने वाले दशकों में 7.7 फीसदी की आर्थिक वृद्धि दर के साथ भारत इस मामले में चीन से आगे निकल जाएगा। हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के एक शोध से यह नतीजा निकला है। इस शोध में चेतावनी दी गई है कि आने वाले दशकों में वैश्विक आर्थिक विकास की रफ्तार में गिरावट जारी रहेगी। 2025 तक भारत और सूडान सबसे तेजी से विकास करने वाले देश होंगे। यूनिवर्सिटी के सेंटर फॉर इंटरनेशनल डेवलपमेंट (सीआईडी) के अनुसार पिछले कुछ वर्षों में वैश्विक आर्थिक विकास की धुरी चीन से खिसक कर पड़ोसी भारत की ओर चली गई है और आने वाले दशकों में भारत ही इसका केंद्र बना रहेगा। शोधकर्ताओं के अनुसार, भारत का तेज आर्थिक विकास निर्यात में आई विविधता का नतीजा है। हाल के वर्षों में भारत ने केमिकल, वाहन और इलेक्ट्रॉनिक्स के निर्यात पर ज्यादा जोर दिया है। इस मोर्चे पर उसकी स्थिति इतनी मजबूत है कि वह आगे भी निर्यात के नये क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करता रहेगा। इसके विपरीत, चीन के निर्यात में कमी आ रही है, जिसकी वजह उसकी आर्थिक विकास दर लगातार मंद पड़ती जा रही है।
 
चीन नहीं भारत बनेगा आर्थिक दुनिया का नेता