11 महिलाअों समेत 29 नक्सलियों ने किया सरेंडर

सुकमा। कोंटा ब्लॉक के विभिन्न गांवों से लगभग तीन सौ ग्रामीण गुरुवार को जिला मुख्यालय पहुंचे। ग्रामीणों की समझाइश पर माओवादियों के विभिन्न संगठनों से जुडे 11 महिला समेत 29 नक्सलियों ने एएसपी नक्सल ऑपरेशन शलभ सिन्हा के सामने सरेंडर कर दिया। एएसपी ने सरेंडर किए नक्सलियों को प्रोत्साहन राशि प्रदान की। एएसपी ने बताया कि माओवादियों के संगठनों में काम कर रहे नक्सलियों ने ग्रामीणों की समझाइश के बाद आत्मसमर्पण कर मुख्यधारा से जुड़ने की इच्छा जाहिर की है। ग्रामीणों की इस पहल की सराहना करते हुए एएसपी ने कहा कि विकास के लिए ग्रामीणों की सहभागिता बहुत जरुरी है।

गुरुवार को सरेंडर नक्सलियों में जनमिलिशिया डिप्टी कमांडर मडक़म हडमा के अलावा गंगा, दूडबा, हिडमा, नंदा, पाण्डू, भीमा, दूला, मासा, भीमा, हूंगा, कोसा, मासा, देवे, बुधरी, मुडे, गंगी, हिडमे, मासे, जोगी, देवे, भीमे, देवे, सोमडा, कोसा, हडमा, हिडमा एवं गंगा शामिल हैं।

सभी आत्मसमर्पित नक्सली माओवादी संगठन में जनमिलिशिया, सीएनएम (चेतना नाट्य मंडली), केएएमएस (किसान आदिवासी महिला संगठन), डीएकेएमएस (दंडकारण्य आदिवासी किसान मजदूर संघ), स्कूल कमेटी सदस्य, मेडिकल टीम सदस्य, संघम सदस्य, ग्राम रक्षा दल, विकास कमेटी, भूमकाल मिलिशिया, बेस कमेटी व पंच कमेटी सदस्य के रुप में सक्रिय थे।