Breaking News

››  कांग्रेस के पक्ष में वातावरण को जीत में बदलना होगा : कमलनाथ ››  दिग्विजय सिंह पीसीसी में आज लेंगे समन्वय समिति की पहली बैठक ››  राज्यवर्धन ने पेले दण्ड तो एमपी BJP के राजेन्द्र ने जवाब में उठाया 110 किलो भार.. ››  कर्नाटक: कुमारस्वामी ने ली मुख्यमंत्री पद की शपथ , ››  समन्वय समिति में गौतम को शामिल किए जाने पर मंदसौर कांग्रेस इकाई में तेवर बागी,विधायक डंग का पीसीसी प्रतिनिधि पद से इस्‍तीफा ››  दिनभर यात्रियों हुए परेशान , शाम को बस हड़ताल समाप्‍त ››  बैतूल कलेक्टर को एफबी पर दी जान से मारने की धमकी देश के गृहमंत्री और बैतूल की सांसद के खिलाफ की आपत्तिजनक पोस्ट ››  भोपाल जिला कांग्रेस के अध्यक्ष की कमान कैलाश मिश्रा , अरुण श्रीवास्तव को ग्रामीण की कमान ››  कुमार होंगे कर्नाटक के स्वामी, 23 मई को लेगे मुख्यमंत्री पद की शपथ ››  मुख्यमंत्री जन-कल्याण योजना: गरीबों के इलाज की नि:शुल्क व्यवस्था की जायेगी: शिवराज

HDFC बैंक ने बदले ये नियम, ऑनलाइन ट्रांजैक्शन होगा सस्ता

 

एचडीएफसी बैंक में आगर आपका खाता है तो यह खबर आपके काम की है। एचडीएफसी ने खाते में न्यूनतम बैंलेंस रखने को लेकर नया नियम बनाए हैं, इसके साथ ही प्रीमियम ग्राहकों को ऑनलाइन ट्रांजैक्शन में राहत देने का फैसला किया है।

एक रिपोर्ट के मुताबिक, ऑनलाइन ट्रांजैक्शन को बढ़ावा देने के लिए बैंक ने आरटीजीएस और एनईएफटी ट्रांजैक्शन्स को एक नवंबर से फ्री करने का फैसला किया है।

नए नियम के अनुसार, क्लासिक श्रेणी के ग्राहकों को अब खाते में हर महीने कम से कम एक लाख रुपए की राशि रखनी होगी। न्यूतम बैलेंस का यह नियम बचत खातों के लिए लागू होगा। वहीं सावधि जमा या फिक्सड डिपोजिट करने वाले ग्राहकों को पांच लाख रुपए का न्यूनतम बैलेंस रखना होगा। अभी तक यह राशि एक लाख रुपए थी।

एचडीएफसी बैंक के क्लासिक श्रेणी के उपभोक्ताओं को अब प्रत्येक माह एक लाख रुपए न्यूनतम बैलेंस रखना होगा जबकि पहले एक लाख रुपए का न्यूनतम बैलेंस तिमाही में रखना होता था।

ऑनलाइन ट्रांजैक्शन होगा मुफ्त-
इससे पहले एचडीएफसी बैंक ने आरटीजीएस और एनईएफटी के जरिए ऑनलाइन ट्रांजैक्शन को बढ़ावा देने के लिए एन नवंबर शुल्क रहित कर दिया है। एक नवंबर से ऑनलाइन ट्रांजैक्शन पर किसी प्रकार का शुल्क नहीं लिया जाएगा। इससे पहले आरटीजीएस ट्रांजैक्शन पर दो से पांच लाख रुपए पर 25 रुपए और ऑनलाइन मनीट्रांसफर पर 5 लाख रुपए के लिए 50 रुपए लिए जाते थे जो अब इस प्रकार का चार्ज नहीं लगेगा।

चेक के लिए बढ़ा चार्ज-
एन नियम के अनुसार, अब ग्राहक साल में 25 पेज वाली एक चेकबुक के लिए आवेदन कर सकता है। साल में एक से ज्यादा चेकबुक लेने पर ग्राहक को 75 रुपए प्रति चेकबुक के हिसाब से पे करना होगा। अब चेक बाउंस होने की स्थिति में ग्राहक को 500 रुपए दंड देना होगा जबकि पहले यह राशि कम थी।

 
HDFC बैंक ने बदले ये नियम, ऑनलाइन ट्रांजैक्शन होगा सस्ता