February 23, 2021

Supreme Court strict in the paper leak case, Says its ruin Indias education system – पेपर लीक मामले में SC की सख्त टिप्पणी, कहा- ये देश की शिक्षा प्रणाली को बर्बाद कर रहा है

पेपर लीक मामले में SC की सख्त टिप्पणी, कहा- ये देश की शिक्षा प्रणाली को बर्बाद कर रहा है

Supreme Court ने Karnataka Paper Leak Case 2016 के मामले में किंगपिन को नोटिस जारी किया

नई दिल्ली:

पेपर लीक मामले (Paper Leak Case) में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने सख्त टिप्पणी देते हुए कहा कि प्रश्न पत्र 

पेपर लीक देश की शिक्षा प्रणाली को बर्बाद कर रहा है. कोर्ट ने कहा कि मध्य प्रदेश के व्यापम (MP Vyapam Case) जैसे मामले विकृत और शिक्षा प्रणाली को खराब कर रहे हैं. सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक में 2016 के प्रश्न पत्र लीक मामले में एक किंगपिन को नोटिस जारी कर पूछा, क्यों ना उसकी जमानत रद्द कर दी जाए. सुप्रीम कोर्ट ने दूसरे आरोपी को आरोपमुक्त करने पर रोक लगाई. एक आरोपी की जमानत रद्द करने की कर्नाटक सरकार की अपील की सुनवाई के दौरान CJI एस ए बोबडे ने ये टिप्पणियां दी हैं. 

यह भी पढ़ें

Read Also: सुप्रीम कोर्ट ने अमेजन की याचिका पर फ्यूचर ग्रुप को जारी किया नोटिस

दरअसल कर्नाटक हाईकोर्ट ने प्रश्न पत्र लीक मामले में किंगपिन शिवकुमारैया को जमानत दे दी थी. जबकि मामले से सह आरोपी ओबलाराजू को आरोपमुक्त कर दिया था. सुप्रीम कोर्ट ने शिवकुमारैया को नोटिस जारी किया और ओबलाराजू  को मामले से मुक्त करने के उच्च न्यायालय के आदेश पर रोक लगा दी. CJI बोबडे ने कहा कि हम एक संदेश देना चाहते हैं.  ये लोग शिक्षा प्रणाली को बर्बाद कर रहे हैं.  हम उन मामलों से गुजर रहे हैं जहां शिक्षा प्रणाली विकृत और खराब की गई है. उन्होंने कहा कि हम जानते हैं कि मध्य प्रदेश में व्यापम मामले में क्या हुआ था. 

Read Also: लॉकरों के लिए सुप्रीम कोर्ट का आदेश, RBI 6 महीने में बनाए बैंकों के नियम 

Newsbeep

दरअसल मार्च 2016 में कर्नाटक सरकार ने इन लोगों के साथ अन्य आरोपियों के खिलाफ प्री यूनिवर्सिटी परीक्षा के लिए रसायन विज्ञान प्रश्न पत्र लीक करने के लिए मामला दर्ज किया था. इस मामले में राज्य में हंगामा खड़ा कर दिया था. 

Read Also: बिहार : पेपर लीक मामला, SBI कैशियर व सफाईकर्मी समेत 3 गिरफ्तार


Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *