Train 18 का रैक मिलने के बाद इतना महंगा हो जाएगा शताब्दी का सफर

भोपाल। ट्रेन-18 नाम से तैयार आधुनिक रैक मिलने के बाद हबीबगंज से नई दिल्ली के बीच शताब्दी एक्सप्रेस का सफर 2 से 5 फीसदी तक महंगा हो सकता है। जी हां, रेलवे बोर्ड शताब्दी का किराया बढ़ाने पर विचार कर रहा है। किराया बढ़ाने के पीछे रेलवे का तर्क है कि ट्रेन-18 के रैक में शताब्दी के मौजूदा रैक की तुलना में यात्रियों को अधिक सुविधा मिलेगी। हालांकि, किराया बढ़ाने पर अभी अंतिम सहमति नहीं बनी है।

रेलवे ने चेन्नई इंट्रीगल कोच फैक्ट्री में पहला स्वदेशी आधुनिक रैक तैयार किया है। इस रैक का अभी मुरादाबाद से अलग-अलग सेक्शनों में ट्रायल चल रहा है। यह रैक 15 से 31 दिसंबर 2018 के आखिरी तक हबीबगंज-नई दिल्ली शताब्दी को मिलना है। रेलवे के अधिकारियों की माने तो किराया बढ़ना तय है। यह रैक 11 नवंबर को रात 10.50 बजे भोपाल स्टेशन से होकर चेन्नई से दिल्ली ले जाया गया। यह रैक 10 मिनट तक स्टेशन पर खड़ा भी था। रैक को ले जाने के लिए अलग से इंजन लगाया गया था। रेलवे बोर्ड के अधिकारियों ने बताया कि ट्रायल दिल्ली से अलग-अलग सेक्शनों में होना था, इसलिए अलग इंजन लगाकर रैक लाना पड़ा।