September 16, 2020

China constructing Military base on Indo-nepal border | भारत की ताकत देख हैरान-परेशान चीन, अब पड़ोसी देश के साथ मिलकर रच रहा ये साजिश

नई दिल्ली: चीन एक तरफ बातचीत के जरिए LAC पर जारी तवान को कम करने का दिखावा कर रहा है तो वहीं दूसरी तरफ लद्दाख से अरुणाचल तक ड्रैगन का अतिक्रमण चरित्र भी सामने आ गया है. खबरों की मानें तो उत्तराखंड के पास नेपाल बॉर्डर पर चीन की सेना निर्माण कार्य कर रही है. उधर, भूटान की जमीन हड़पने के लिए भी चीन चाल चल रहा है. 

चीन जहां नेपाल को अपना आर्थिक गुलाम बना चुका है, वहीं वो भारत पर सैन्य दबाव बनाने की कोशिश कर रहा है. सूत्रों की मानें तो चीन नेपाल सीमा के पास अपना सैन्य ठिकाना बना रहा है. नेपाल के तिनकार लिपु दर्रे के पास PLA की गतिविधियां देखी गई हैं. भारत-नेपाल सीमा के नजदीक चीन की सेना निर्माण कार्य में जुटी हुई है. सूत्रों की मानें तो भारत-नेपाल सीमा के नजदीक चीन की सेना छोटी इमारतें बना रही है.

भारत के ताकत से हैरान, परेशान और डरा चीन अपनी आदतों से बाज नहीं आ रहा है. लगातार बॉर्डर पर भारत के खिलाफ नई-नई चाल चल रही है. जबकि उसे पता है कि उसकी हार तय है. लेकिन धोखेबाज चीन मानता ही नहीं है. खबरों के मुताबिक चीन की पीपल्स लिब्रेशन आर्मी (PLA) ने अरुणाचल प्रदेश से सटे हिस्सों में अपनी सेना की गतिविधयों को बढ़ा दिया है.

अरुणाचल प्रदेश से लगी सीमा पर साजिश की तैयारी
सुरक्षा एजेंसियों के सूत्रों के मुताबिक, लद्दाख में भारतीय जवानों से शिकस्त खाने के बाद चीन अब अरुणाचल प्रदेश से लगी सीमा पर किसी साजिश की तैयारी में जुटा है. लेकिन चीन को कोई भी हिमाकत करने से पहले याद रखना चाहिए कि भारत किसी को छोड़ता नहीं है. 

भारतीय सेना तैयार
भारत लद्दाख में तो चीन को सबक सिखा ही चुका है और अरुणाचल प्रदेश में भी तैयार बैठा है. सूत्रों के मुताबिक अरुणाचल प्रदेश के असाफिला और फिश टेल-2 के इलाकों में चीन की सेना की गतिविधियां देखी जा रही हैं. बीते कुछ दिनों में इस क्षेत्र के करीब 20 किलोमीटर के इलाके में चीन की सेना के तमाम वाहन देखे गए हैं.

इसके अलावा यहां पर कुछ सड़कों और अन्य चीजों का निर्माण भी हुआ है. लेकिन चीन की पूरी गतिविधि पर भारतीय सेना और सुरक्षा एजेंसियों की नजर है. चीन से निपटने के लिए भारतीय सेना ने अरुणाचल प्रदेश के इस हिस्से में खुद की ताकत को और बढ़ाया है और भारतीय सेना पूरी तरह से तैयार है.

चीन को जवाब देने के लिए भारत तैयार
लद्दाख में भारत से करारी शिकस्त खाने के बाद भले ही चीन दूसरी बार हिमाकत करने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहा है लेकिन लद्दाख में भी उसकी सैनिक गतिविधियां थमी नहीं है. लद्दाख में पूरी दुनिया ने भारत के पराक्रम को देखा. भारत ने ब्लैक TOP और फ्रिंगर-4 पर फिर से कब्जा कर लिया और चीन कुछ नहीं कर पाया. पैंगोंग में चीन की घुसपैठ की कोशिश को नाकाम कर दिया है और गलवान में भारत ने चीन को सबसे बड़ा घाव दिया है. चीन को ये समझना होगा कि ये नया भारत है.ऐसे में अरुणाचल प्रदेश हो या लद्दाख चीन की हर चालाकी का जवाब देने के लिए भारत तैयार है.




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed