Saturday, April 13, 2024
HomestatesBundelkhandकमलनाथ जी को लेकर मीडिया से जो जानकारियां और सूचनाएं मिल रहीं...

कमलनाथ जी को लेकर मीडिया से जो जानकारियां और सूचनाएं मिल रहीं हैं वह निराधार है, भ्रमित जानकारियों से बचे : जीतू पटवारी

70 के दशक में दो भाईयों की जोड़ी फेमस हुई दी, संजय गांधी और कमलनाथ : जीतू पटवारी

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष श्री जीतू पटवारी ने शनिवार को मीडिया से अनौपचारिक चर्चा कर कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ नेता आदरणीय कमलनाथ जी को लेकर मीडिया में जो जानकारियां और सूचनाएं मिल रही हैं, वह निराधार है। उन्होंने कहा कि स्वाभाविक रूप से हम और आप सब उनको देख रहे हैं, 70 के दशक में दो भाइयों की जोड़ी बहुत फेमस हुई थी उसमें इंदिरा जी के बेटे संजय गांधी जी और कमलनाथ जी, तब से लेकर आज तक कांग्रेस पार्टी की विचारधारा इंदिरा गांधी जी, राजीव गांधी जी, सोनिया गांधी जी राहुल गांधी जी सब के साथ एक परिवार जैसा व्यवहार अपनत्व और भरोसे की भावना अगर कहीं देखने को मिलती है तो इन्हीं दो परिवारों के बीच देखने को मिली है।
श्री पटवारी ने कहा कि जब 80 में कमलनाथ जी चुनाव लड़े तो इंदिरा जी ने आमसभा में यह भावना व्यक्त की थी कि यह मेरा तीसरा बेटा है। उससे आगे बढ़कर इस 45 वर्ष की राजनीतिक यात्रा में पिछले 7 वर्षों से वे मध्य प्रदेश में कांग्रेस के मुखिया के रूप में हम सब कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ कंधे से कंधा मिलाकर, हर परिस्थिति मे सुख-दुख में अच्छे और बुरे में पूरी दृढ़ता से कांग्रेस के विचार को आत्मसात करके विपक्ष की भूमिका को निभाते हुए निडरता से अपना कार्य करते हैं। मुझे याद है वह पल जब सिंधिया जी ने कांग्रेस पार्टी की सरकार गिराई थी तब भी कांग्रेस का एक-एक कार्यकर्ता कमलनाथ जी के विचार और उनके नेतृत्व के नीचे खड़ा था। उस समय मेरे जैसे कई कांग्रेसजन हर तरीके से कंधे से कंधा मिलाकर कांग्रेस के विचार को आत्मसात कर रहे थे अंत-तोगत्वा मैं यह कहना चाहता हूं कि जो खबरें है वह निराधार है। कोई किसी प्रकार की भावना या कभी सपने में सोच सकते हैं कि इंदिरा जी का तीसरा बेटा कांग्रेस छोड सकता है? क्या कभी सपने में भी यह विचार आ सकता है? अभी दो महीने पहले हमने चुनाव लड़ा और कमलनाथ को मुख्यमंत्री बनने के लिए कांग्रेस का एक-एक कार्यकर्ता सब कुछ न्यौछावर करता रहा, क्या उनको छोड़ने की बात कमलनाथ जी कर सकते हैं। सिंधिया जी जब सरकार गिरा रहे थे और हमारे लोग उनके गुंडों के डंडे खा रहे थे कमलनाथ जी को मुख्यमंत्री बनाने के लिए क्या वे कमलनाथ जी हमें सबको छोड़कर जा सकते हैं।
श्री पटवारी ने कहा कि अशोक सिंह का नाम कमलनाथ जी ने प्रस्तावित किया, विधायकों और पूरे नेतृत्व में एक साथ समर्थन किया और अशोक सिंह को सर्वसम्मित से राज्यसभा भेजा गया। कमलनाथ जी को लेकर यह खबर पूरी तरह निराधार है। कांग्रेस का एक-एक कार्यकर्ता विपक्ष की भूमिका को दृढ़ता के साथ निभा रहा है। कांग्रेस ने किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य गारंटी के रूप में दी है, उसी भावना के अनुरूप कांग्रेस पार्टी किसानों के लिए मिनिमम सपोर्ट प्राइस की गारंटी है, उसकी भावना कांग्रेस पार्टी ने व्यक्त की है और इस संबंध में कार्यक्रम जारी हो रहे हैं। अंत में पत्रकारों से कहा कि कमलनाथ जी को लेकर दी जा रही भ्रमित जानकारियों से बचें।प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष श्री जीतू पटवारी ने शनिवार को मीडिया से अनौपचारिक चर्चा कर कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ नेता आदरणीय कमलनाथ जी को लेकर मीडिया में जो जानकारियां और सूचनाएं मिल रही हैं, वह निराधार है। उन्होंने कहा कि स्वाभाविक रूप से हम और आप सब उनको देख रहे हैं, 70 के दशक में दो भाइयों की जोड़ी बहुत फेमस हुई थी उसमें इंदिरा जी के बेटे संजय गांधी जी और कमलनाथ जी, तब से लेकर आज तक कांग्रेस पार्टी की विचारधारा इंदिरा गांधी जी, राजीव गांधी जी, सोनिया गांधी जी राहुल गांधी जी सब के साथ एक परिवार जैसा व्यवहार अपनत्व और भरोसे की भावना अगर कहीं देखने को मिलती है तो इन्हीं दो परिवारों के बीच देखने को मिली है। श्री पटवारी ने कहा कि जब 80 में कमलनाथ जी चुनाव लड़े तो इंदिरा जी ने आमसभा में यह भावना व्यक्त की थी कि यह मेरा तीसरा बेटा है। उससे आगे बढ़कर इस 45 वर्ष की राजनीतिक यात्रा में पिछले 7 वर्षों से वे मध्य प्रदेश में कांग्रेस के मुखिया के रूप में हम सब कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ कंधे से कंधा मिलाकर, हर परिस्थिति मे सुख-दुख में अच्छे और बुरे में पूरी दृढ़ता से कांग्रेस के विचार को आत्मसात करके विपक्ष की भूमिका को निभाते हुए निडरता से अपना कार्य करते हैं। मुझे याद है वह पल जब सिंधिया जी ने कांग्रेस पार्टी की सरकार गिराई थी तब भी कांग्रेस का एक-एक कार्यकर्ता कमलनाथ जी के विचार और उनके नेतृत्व के नीचे खड़ा था। उस समय मेरे जैसे कई कांग्रेसजन हर तरीके से कंधे से कंधा मिलाकर कांग्रेस के विचार को आत्मसात कर रहे थे अंत-तोगत्वा मैं यह कहना चाहता हूं कि जो खबरें है वह निराधार है। कोई किसी प्रकार की भावना या कभी सपने में सोच सकते हैं कि इंदिरा जी का तीसरा बेटा कांग्रेस छोड सकता है? क्या कभी सपने में भी यह विचार आ सकता है? अभी दो महीने पहले हमने चुनाव लड़ा और कमलनाथ को मुख्यमंत्री बनने के लिए कांग्रेस का एक-एक कार्यकर्ता सब कुछ न्यौछावर करता रहा, क्या उनको छोड़ने की बात कमलनाथ जी कर सकते हैं। सिंधिया जी जब सरकार गिरा रहे थे और हमारे लोग उनके गुंडों के डंडे खा रहे थे कमलनाथ जी को मुख्यमंत्री बनाने के लिए क्या वे कमलनाथ जी हमें सबको छोड़कर जा सकते हैं। श्री पटवारी ने कहा कि अशोक सिंह का नाम कमलनाथ जी ने प्रस्तावित किया, विधायकों और पूरे नेतृत्व में एक साथ समर्थन किया और अशोक सिंह को सर्वसम्मित से राज्यसभा भेजा गया। कमलनाथ जी को लेकर यह खबर पूरी तरह निराधार है। कांग्रेस का एक-एक कार्यकर्ता विपक्ष की भूमिका को दृढ़ता के साथ निभा रहा है। कांग्रेस ने किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य गारंटी के रूप में दी है, उसी भावना के अनुरूप कांग्रेस पार्टी किसानों के लिए मिनिमम सपोर्ट प्राइस की गारंटी है, उसकी भावना कांग्रेस पार्टी ने व्यक्त की है और इस संबंध में कार्यक्रम जारी हो रहे हैं। अंत में पत्रकारों से कहा कि कमलनाथ जी को लेकर दी जा रही भ्रमित जानकारियों से बचें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

RECENT COMMENTS