October 26, 2020

French President Emmanuel Macron replies to Imran Khan over attacking on Islam allegation | इस्लामोफोबिया मामला: फ्रांस के राष्ट्रपति ने इमरान को दिया करारा जवाब, बंद कर दी बोलती

पेरिस: फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों (Emmanuel Macron) ने इस्लाम पर हमला करने के आरोप पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) को करारा जवाब दिया है. उन्होंने अंग्रेजी और उर्दू में ट्वीट कर कहा कि शांति की भावना में सभी मतभेदों का सम्मान करते हैं. इससे पहले पाक पीएम ने ट्वीट कर इमैनुएल मैक्रों पर इस्लामोफोबिया को बढ़ावा देने का आरोप लगाया था.

इमैनुएल मैक्रों ने ट्वीट कर दिया जवाब
इसके बाद बाद इमैनुएल मैक्रों (Emmanuel Macron) ने ट्वीट कर कहा, ‘हम कभी ऐसा नहीं होने देंगे. हम शांति की भावना में सभी मतभेदों का सम्मान करते हैं. हम अभद्र भाषा को स्वीकार नहीं करते हैं और तर्कसंगत बहस का बचाव करते हैं. हम हमेशा मानवीय गरिमा और सार्वभौमिक मूल्यों के लिए खड़े रहेंगे.’

इमरान खान ने ट्वीट कर लगाए थे आरोप
इमरान खान ने कहा था, ‘राष्ट्रपति मैक्रों रेसिज्म और ध्रुवीकरण हटाने की बजाय अतिवादियों (Terrorist) को हीलिंग टच और अस्वीकृत स्थान देने में लगे हैं, जो निश्चित रूप से उनकी कट्टरवादी सोच को दिखाता है. यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि राष्ट्रपति मैक्रों हिंसा करने वाले आतंकवादियों के बजाय इस्लाम पर हमला करके इस्लामोफोबिया को प्रोत्साहित कर रहे है. अफसोस की बात है कि राष्ट्रपति मैक्रो ने इस्लाम और इस्लाम के रहनुमा पैगंबर साहब को निशाना बनाने वाले कार्टून के प्रदर्शन को बढ़ावा दिया हैं और जानबूझकर मुसलमानों को भड़कने पर मजबूर कर रहे हैं.’ उन्होंने आगे कहा, ‘फ्रांस के राष्ट्रपति को इस्लाम की कोई समझ नहीं है, फिर भी उन्होंने इस पर हमला करके यूरोप और दुनिया भर में लाखों मुसलमानों की भावनाओं पर हमला किया और उन्हें चोट पहुंचाई.’

किस बात पर दोनों के बीच शुरू हुआ विवाद
दरअसल, 16 अक्टूबर को अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का पाठ पढ़ाते हुए छात्रों को पैगंबर मोहम्मद का विवादित कार्टून दिखाने वाले टीचर सैमुअल पैटी का गला काट दिया गया था. इसके बाद फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने टीचर को श्रद्धांजलि दी थी और कहा था कि टीचर को मार दिया गया, क्योंकि इस्लामवादी हमारा भविष्य चाहते हैं.

LIVE टीवी




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *