July 9, 2020

Immunity Boosting Drink: Immunity boosting Kadha recipe

नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

Immunity Boosting Kadha : कोरोना से ठीक हुआ मरीज, अब वायरल हो रहा है उसका ये इम्युनिटी बूस्टर काढ़ाकोरोना वायरस का इलाज करने के लिए कई प्रकार के काढ़े का सेवन अस्पतालों में भी मरीजों को करवाया जा रहा है। इसी बीच, कोरोना वायरस के संक्रमण से ठीक हुए एक मरीज के द्वारा शेयर की गई इम्युनिटी बूस्टर काढ़े की रेसिपी वायरल हो रही है। मरीज ने इस बारे में जानकारी दी है कि वह इस काढ़े का सेवन करके कोरोना वायरस के संक्रमण से मुक्त हो चुका है।

इस काढ़े की रेसिपी के बारे में आपको भी जानना चाहिए। अगर आप वायरस से संक्रमित नहीं हैं तो भी आप अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाने के लिए इसका सेवन कर सकते हैं।

​इन सामग्रियों की पड़ेगी जरूरत

NBT

इस इम्युनिटी बूस्टर काढ़े को घर पर बनाना बहुत आसान है और इसमें प्रयोग की जाने वाली ज्यादातर सामग्री आपको किचन में ही मिल जाएगी। आइए इन सामग्रियों के बारे में जानते हैं।

  • तुलसी की 5-6 पत्तियां आपको घर में लगे हुए तुलसी के पौधे से लेनी पड़ेंगी।
  • इसके अलावा 1-2 बड़ी इलायची/ हरी इलायची,
  • 1/2 कप हल्दी के छोटे-छोटे कटे हुए टुकड़े,
  • 1 चम्मच लौंग,
  • 1 चम्मच काली मिर्च,
  • दालचीनी का 1 टुकड़ा छोटे आकार का)
  • 5-6 चम्मच कटी हुई अदरक
  • 1 चम्मच मुनक्का

इम्युनिटी बूस्टर काढ़े को बनाने के लिए आपको ऊपर बताई गई सामग्रियों की जरूरत होगी। आपके घर में इनमें से जो सामग्री ना हो, आप उसे ग्रॉसरी शॉप से जाकर खरीद सकते हैं। इस इम्युनिटी बूस्टर ड्रिंक को तैयार करने में ज्यादा समय नहीं लगता। आप इसे 5 से 10 मिनट में ही तैयार कर सकते हैं। आइए अब इसे बनाने की विधि जानते हैं…

​कैसे तैयार करना है यह काढ़ा

NBT

इस इम्युनिटी बूस्टर ड्रिंक को तैयार करने के लिए सबसे पहले अदरक और हल्दी को पानी में अच्छी तरह मिला लें। अब इसे 4 कप पानी में डालकर तब तक उबालना है जब तक यह पीला हो जाए और इसमें से अदरक की खुशबू भी आने लगे। इसे 5 से 6 मिनट तक ऐसे ही उबालते रहें। अब बची हुई सामग्री को हल्दी और अदरक के इस पानी में मिलाएं और इसे कम से कम 15 से 20 मिनट तक उबालें।

पानी कम होने लगे तो आप इसमें अतिरिक्त पानी भी मिला सकते हैं या फिर यह आपको तय करना है कि आप कितनी मात्रा में इस काढ़े को बनाना चाहते हैं, उसी हिसाब से पानी की मात्रा रखें। अब यह काढ़ा पूरी तरह से तैयार है। इसे एक कप में छानकर रखें और एक चम्मच शहद मिलाकर उसे काढ़े में अच्छी तरह घोल दें। अब काढ़े का गुनगुने रूप में ही घूंट-घूंट करके सेवन करें।

यह भी पढ़ें : डॉक्टर का दावा, कोरोना से बचाने में मददगार साबित होंगे आयुर्वेद के यह 3 नुस्खे

कैसे फायदेमंद है यह इम्युनिटी बूस्टर काढ़ा

NBT

रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाने के लिए आयुष मंत्रालय के द्वारा आयुर्वेदिक काढ़े का सेवन करने की सलाह दी गई है। वैज्ञानिक और डॉक्टरों की मानें भी तो भारतीय मसालों में ऐसे औषधीय गुण मौजूद हैं जो रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाने के साथ-साथ कोरोना वायरस के सर्दी, खांसी और जुकाम की समस्याओं को दूर करने की बेहतरीन क्षमता रखते हैं।

कोरोना वायरस के लक्षणों को ठीक करने का विशेष गुण रखने के कारण ही यह इम्युनिटी बूस्टर काढ़ा मददगार साबित हुआ। इम्यूनिटी बूस्टर काढ़े का सेवन कोविड के लक्षणों को ठीक करने और रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए भी किया जा रहा है और इसके सकारात्मक फायदे भी देखे गए हैं।

यह भी पढ़ें : काली मिर्च के साथ करें इस 1 चीज का सेवन, पास नहीं आएंगी यह 8 बीमारियां

​इस बात का रखना होगा विशेष ध्यान

NBT

इम्युनिटी बूस्टर काढ़े का सेवन करने के दौरान आपको एक बात का विशेष ध्यान रखना है कि यह विभिन्न प्रकार के भारतीय मसालों के जरिए तैयार होता है जिनकी तासीर भी गर्म है। गर्म तासीर वाले खाद्य पदार्थों का अगर अधिक मात्रा में सेवन किया जाएगा तो इससे त्रिदोष की समस्या भी उत्पन्न हो सकती है।

इसके साथ-साथ अधिक मात्रा में काढ़ा पीने से पेट में जलन, आंखों में जलन, मुंह में छाले पड़ने जैसी समस्याओं से भी दो-चार होना पड़ सकता है। इसलिए कोशिश करें कि किसी चिकित्सक के परामर्श अनुसार या फिर मसालों का कम मात्रा में इस्तेमाल करके बनाए गए काढ़े का ही सेवन करें।

यह भी पढ़ें : ब्यूबोनिक प्लेग क्या है? कभी इस बीमारी से यूरोप में हो गई थी करोड़ों लोगों की मौत


Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *