July 28, 2021

शिवराज और उनके मंत्रियों सहित एमपी बीजेपी की टॉप लीडरशिप कोरोना अस्पताल में

स्वर्गीय लालजी टण्डन को श्रद्धांजलि देने पहुंचे सीएम शिवराज और उनके साथ गए सहकारिता मंत्री अरविंद भदौरिया, बीजेपी अध्यक्ष वीडी शर्मा और संगठन महामंत्री सुहास भगत कोरोना संक्रमित।

मंत्री-मुख्यमंत्री, संगठन महामंत्री के बाद अब प्रदेशाध्यक्ष भी कोरोना की चपेट में

अब तक तीन मंत्री हो चुके हैं कोविड के शिकार

मुख्यमंत्री सचिवालय के अफसर भी निकले पॉजिटिव

भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और भाजपा की टॉप लीडरशिप पर लखनऊ की हवाई यात्रा भारी पड़ गई है। मध्यप्रदेश के राज्यपाल रहे लालजी टंडन को श्रद्धांजलि अर्पित करने एक ही विमान से लखनऊ गए चारों नेता अब कोरोना की चपेट में हैं।

मजे की बात यह है कि भाजपा के ये सभी टॉप नेता भोपाल के एक ही निजी अस्पताल में उपचार के लिए दाखिल हो गए हैं। राज्यपाल लालजी टंडन का 21 जुलाई को निधन हुआ था। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, भाजपा प्रदेशाध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा, प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत और सहकारिता मंत्री अरविंद भदौरिया सरकारी विमान से लखनऊ गए थे। लौट के आने के बाद सबसे पहले भदौरिया पॉजीटिव पाए गए। उसके बाद मुख्यमंत्री 24 को पॉजीटिव निकले और वे भी चिरायु अस्पताल में भर्ती हो गए। मुख्यमंत्री के मंगलवार को भाजपा प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत को कोरोना निकला। बुधवार को प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा भी चिरायु के कोविड केयर सेंटर में भर्ती हो गए।

इनसे सीधे संपर्क में आने वाले नेता और अधिकारियों की एक दौर की जांच हो चुकी है। प्रारंभिक जांच में ज्यादातर लोग नेगेटिव पाए गए, लेकिन अब संक्रमण उजागर होने लगा है। मुख्यमंत्री के अपर सचिव ओपी श्रीवास्तव भी बुधवार को कोरोना संक्रमित निकले।

लखनऊ की इसी यात्रा में शामिल सभी चारों टॉप लीडर कोरोना संक्रमित

सीएम और तीन मंत्री कोरोना मरीज

मध्यप्रदेश की भाजपा सरकार देश की पहली सरकार है, जहां मुख्यमंत्री समेत उनकी कैबिनेट के मंत्री कोरोना पॉजीटिव हैं। मुख्यमंत्री के साथ सहकारिता मंत्री अरविंद भदौरिया भर्ती हैं तो पिछड़ा वर्ग और अल्पसंख्यक कल्याण राज्यमंत्री रामखेलावन पटेल भी कोरोना के मरीज हैं। जलसंसाधन मंत्री तुलसी सिलावट इंदौर में कोविड टेस्ट में पॉजीटिव पाए गए हैं। उनकी पत्नी भी संक्रमित हैं। आशंका जताई जा रही है कि कैबिनेट की बैठक सहित अन्य मौकों पर मुख्यमंत्री और अन्य लोगों के संपर्क में आने से कुछ और मंत्री और आला अफसर पॉजीटिव निकल सकते हैं। यहां बता दें कि उपचुनाव की तैयारी कर रहे मंत्री तुलसी सिलावट अपने निर्वाचन क्षेत्र सांवेर के साढ़े तीन हजार से ज्यादा लोगों से पिछले दिनों मिले हैं। यदि उनके कोरोना संक्रमण फैला तो इंदौर की हालत और विस्फोटक हो सकती है।

अस्पताल से ऐसे सरकार चला रहे शिवराज

सरकार और संगठन अस्पताल में, वीडी की टीम अटकी

 कोरोना से जंग लड़ रही मध्यप्रदेश सरकार ही अब बुरी तरह कोरोना की चपेट में आ गई है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कोरोना का इलाज करा रहे हैं। उनके साथ अब तीन मंत्री, कई अफसर और भाजपा की टॉप लीडरशिप भी कोविड-19 की चपेट में आ गई है। मुख्यमंत्री तो अस्पताल से ही वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए अपना कामकाज कर रहे हैं। संगठन के सामने अजीब स्थिति बन गई है। 27 सीटों पर विधानसभा के उपचुनाव की तैयारी के बीच प्रदेशाध्यक्ष और प्रदेश संगठन महामंत्री समेत ग्वालियर-चंबल अंचल के संभागीय संगठन मंत्री तक कोरोना संक्रमित हो अस्पताल में भर्ती हो चुके हैं। वहीं भाजपा प्रदेशाध्यक्ष की टीम यानी प्रदेश कार्यसमिति भी दो-चार दिन में बनने वाली थी, जो फिलहाल अटक गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *