July 27, 2021

टिकट दलालों से तीन एजेंसियों की पूछताछ, जेल जाने से पहले निकले कोरोना पॉजिटिव, मचा हड़कंप

सीआईबी की गिरफ्तारी के करीब 50 जवानों के संपर्क में रहे मुल्जिम

अब निशातपुरा चौकी, जीआरपी और थाना बजरिया के स्टाफ की हो रही स्क्रीनिंग


भोपाल।। कोरोना महामारी इस कदर फैली हुई है कि पता नहीं चलता है कि कौन व्यक्ति संक्रमित है और कौन नहीं। ऐसे ही एक मामला राजधानी में सामने आया है। आरपीएफ के इंटेलिजेंस विभाग ने बीते दिनों दो दलालों को गिरफ्तार किया था। उन्हें निशातपुरा चौकी में रखा गया है। इस बीच जीआरपी और स्टेशन बजरिया पुलिस ने भी दलालों से पूछताछ की। इसके बाद कोर्ट में पेश किया गया और दलालों को कोरोना टेस्ट हुआ और वे पॉजिटिव आये। अब स्वास्थय विभाग की टीम संपर्क में आने वाले जवानों की स्क्रीनिंग कर रही है।


जानकारी के अनुसार 10 जुलाई की आरपीएफ की सीआईबी (क्राइम इंटेलिजेंस ब्रांच) ने 21 वर्षीय अशोक गिरवानी और जावेद नाम के दो अवैध टिकट बुकिंग करने वाले दलालों को हिरासत में लिया। इसके बाद उनकी बिना स्क्रीनिंग कराए, उन्हें निशातपुरा चौकी को सुपुर्द कर दिया। दलालों के नक्सेस का पता लगाने के लिए जीआरपी के भी कई जवानों ने पूछताछ की। सूत्रों ने बताया कि फिर बाद भी कुछ अन्य मामलों की तफ्तीश के लिए स्टेशन बजरिया ने दलालों से पूछताछ की। हालांकि जीआरपी और स्टेशन बजरिया को मुल्जिमों कोई ठोस जानकारी नहीं मिली। 12 जुलाई की सुबह से ही चौकी में बंद दलालों में कोरोना के लक्षण पाए गए। उन्हें कोर्ट में पेश किया गया। कोर्ट ने कहा कि दो आरोपियों को जेल भेजा जाए। जेल भेजने से पहले आरोपियों का कोरोना टेस्ट कराया गया जिनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। अब तीनों एजेंसियों में हड़कंप मचा हुआ है।

जवानों को क्वारेंटाइन करने की तैयारी

अवैध रूप से टिकट बुकिंग करने वाले दो मुल्जिमों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद अब अफसरों ने जवानों की स्क्रीनिंग कराने के लिए कहा है। मंगलवार को ही स्वास्थ्य विभाग की टीमें दलालों के संपर्क में आने वाले जवानों की स्क्रीनिंग कर रही है। हालांकि जीआरपी के सभी जवानों के सैंपल भी लिए गए हैं।

अफसरों की सफाई, नहीं थे कोई लक्षण

रेलवे अफसरों ने इस पूरे मामले में सफाई पेश की है। उनका कहना है कि दलालों में कोई कोरोना का लक्षण नहीं पाया गया था। नियम के अनुसार उनका कोरोना टेस्ट कराना था जो कराया गया। फिर हालांकि उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। सूत्रों का कहना है कि इस पूरे मामले में लापरवाही बरती गई है।

सीनियर डीएससी बोले- सभी जवानों को करेंगे क्वारेंटाइन

भोपाल डिवीजन के सीनियर डीएससी बी. रामा कृष्णा का कहना है कि सीआईबी ने दलालों को गिरफ्तार किया था। गिरफ्तारी के समय की उनकी स्क्रीनिंग भी की गई लेकिन कोर्ट के पेश होने के बाद उनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसके बाद अब आरोपियों के संपर्क में आने वाले जवानों की कॉन्टेक्ट हिस्ट्री निकाली जा रही है। हालांकि संपर्क में आने वाले जवानों की संख्या सामने नहीं आई है। सभी को क्वारेंटाइन किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *