Sunday, May 19, 2024
HomeBreaking Newsसरकारी दफ्तर में जाम छलकाने वाले बाबू ने नौकरी जाने के बाद...

सरकारी दफ्तर में जाम छलकाने वाले बाबू ने नौकरी जाने के बाद पत्नी सहित की खुदखुशी,सुसाइड नोट में महिला के ब्लैकमेलिंग का जिक्र, विभाग में मचा हड़कंप

सिंगरौली : वनमंडलाधिकारी कार्यालय में पदस्थ एक बाबू लिपिक शुक्रवार की दोपहर अपने सरकारी आवास में पत्नी के साथ फांसी के फंदे में झूल कर आत्महत्या कर ली इस घटना के बाद प्रशासनिक महक में सहित इलाके मे हड़कंप मच गया। लिपिक ने पांच पन्नों का सुसाइड नोट भी छोड़ा हैं। जिसमें शराब पीते वीडियो बनाने वाली महिला पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं। हालांकि अभी तक पुलिस ने सुसाइड नोट को सार्वजनिक नहीं किया है। पिछले महीने विभागीय कार्यालय में लिपिक को सेवा से बर्खास्त कर दिया गया था। सेवा से पृथक होने के बाद से ही लिपिक मुख्यालय को छोड़ अपने गांव चला गया था। वही आज शुक्रवार की सुबह ही पत्नी के साथ बैढ़न आया था।

चर्चा है कि कल सुबह लिपिक शिवराज सिंह अपने गांव से पत्नी के साथ बैढ़न पहुंचा था। इसके बाद लिपिक ने पांच पन्नों में अपनी आत्महत्या का सुसाइड नोट लिखा जहां सुसाइड नोट की एक प्रति बंद लिफाफे में अपने ड्राइवर को यह कहते हुए दिया कि यह लिफाफा बेटे को दे देना जबकि सुसाइड नोट का एक प्रति खुद के पास रखा। सुसाइड नोट में उक्त महिला का भी जिक्र है जो पैसों के लिए लगातार ब्लैकमेल कर रही थी साथ ही उक्त महिला को कड़ी सजा देने की भी बात भी लिखी गई है। लिपिक और उसकी पत्नी की मौत के बाद परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है। दरअसल लिपिक का शराब सरकारी दफ्तर में शराब पीने का वीडियो वायरल होने के बाद ना केवल सामाजिक क्षति हुई बल्कि सेवा से पृथक करने की कार्यवाही भी होना माना जा रहा था। चर्चा है कि वीडियो वायरल होने के बाद लिपिक ने वीडियो बनाने वाली महिला सिर्फ माफी भी मांग ली थी।

आंतरिक परिवार कमेटी कर रही थी जांच

हाल ही में दफ्तर में शराब पीने का वीडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल हुआ था। जिसके बाद लोगों के बीच संबंधित बाबू की करतूत लोगों के बीच चर्चा का हिस्सा बन गई थी। इधर वन मंडल अधिकारी ने वायरल वीडियो पर संज्ञान लेते हुए पहले तो बाबू हटा दिया। इसके बाद एक कमेटी का गठन कराकर मामले की जांच कराई। जांच रिपोर्ट के आधार पर उसे सेवा से पृथक कर दिया गया। डीएफओ ने सरकारी दफ्तरों में कार्यरत महिला कर्मचारियों की लैंगिक अपराधों से बचाव के लिए बने अधिनियम 2013 के तहत गठित आंतरिक परिवाद कमेटी से पूरे मामले की जांच कराने के बाद यह कार्रवाई की।

वायरल वीडियो पर विभाग ने की थी फौरी कार्रवाई

वन मंडल कार्यालय सिंगरौली में पदस्थ महिलाकर्मी को लिपिक शिवराज सिंह आए दिन अश्लील गाली दिया करता था। वह आफिस में ही बैठकर शराब भी पीता था। महिलाकर्मी ने डीएफओ को दिए शिकायत पत्र में आरोप लगाया कि बाबू धारदार हथियार भी साथ में रखता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

RECENT COMMENTS