Monday, February 26, 2024
HomeThe Worldin the name of eco-friendly cremation 189 dead bodies were brutalized in...

in the name of eco-friendly cremation 189 dead bodies were brutalized in colorado crematorium | श्मशान घाटों पर लाशों से हुआ ऐसा सलूक, पढ़कर कहेंगे-भगवान भी माफ नहीं करेगा

अमेरिका के कोलोराडो से हैरान कर देने वाली खबर सामने आई है. एक श्मशान घाट चलाने वाले पति-पत्नी ने पैसे कमाने का ऐसा जरिया अपनाया कि आपको पढ़कर शर्म आ जाएगी. दोनों ने दाह संस्कार और दफनाने के लिए मिलने वाली रकम को ही हड़प लिया और खुद के फायदे के लिए इस्तेमाल किया. इतना ही नहीं, लाशों को वैसे ही छोड़ दिया है, जिस पर कीड़े रेंग रहे हैं. इससे सैकड़ों परिवारों के भरोसे को ठेस पहुंचा है. कपल पर आरोप है कि उन्होंने पैसों का इस्तेमाल लग्जरी कारों और डिजाइनर गहने जैसी चीजों को खरीदने में किया है. न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक लगभग 200 शवों को सड़ने के लिए छोड़ दिया. 

उन पैसों से खरीदे लग्जरी कार

कपल का नाम जॉन और कैरी हॉलफोर्ड है. ये ‘रिटर्न टू नेचर फर्नल होम’ नाम का इको फ्रेंडली श्मशान घाट चलाते हैं. इनके इन्वेस्टिगेशन में पाया गया कि पति-पत्नी ने पैसों का इस्तेमाल खुद के फायदे के लिए किया है. इन्होंने उन पैसों से GMC Yukon XL, इनफिनिटी एसयूवी जैसी लग्जरी कार खरीदी हैं. साथ में एक्सपेंसिव वैकेशन और क्रिप्टोकरेंसी में पैसों का इस्तेमाल किया है. कोर्ट के अनुसार, 189 शव कमरों में लावारिस पड़े मिले, उन पर कीड़े रेंग रहे हैं. इस घटना की जानकारी मिलने पर मृतकों के परिजनों में आक्रोश है. वो कानूनी कार्रवाई पर भी सवाल उठा रहे हैं. 

 21 मार्च को होगी पेशी

इंटरनेशनल मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, एक जज के फैसले के बाद एक भयानक कहानी लाइमलाइट में आई. जज ने कहा कि जॉन हॉलफोर्ड के खिलाफ मामला कोर्ट में चलेगा. पिछले महीने उनकी पत्नी कैरी के खिलाफ भी यही फैसला हुआ था. रिपोर्ट्स के अनुसार, दोनों को 21 मार्च को लाशों के गलत इस्तेमाल, जाली दस्तावेज बनाने और अवैध तरीके से पैसा कमाने जैसे कई गंभीर आरोपों में दोषी पाए जाने के लिए कोर्ट में पेश होना होगा.

डैनिका रोमेरो, (जिनकी बहन सामंथा को “रिटर्न टू नेचर” में अंतिम संस्कार दिया जाना था), इस बात से गुस्सा हैं कि कंपनी ने शोकग्रस्त परिवारों का फायदा उठाया है. उन्होंने कहा, “जब लोग पहले से ही दुखी और परेशान हों, तो उनका इतना बुरा व्यवहार करना बहुत दुखद है. मैं सोच भी नहीं सकती कि ऐसा कोई कैसे कर सकता है. उनका कोई दिल नहीं है! मेरी बहन और सभी प्रभावित परिवार इस घटना से आहत हुए हैं.


Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

RECENT COMMENTS