Sunday, May 19, 2024
HomestatesChhattisgarhअयोध्या में रामलला के दर्शन कर गदगद हुए छत्तीसगढ़िया, इस योजना के...

अयोध्या में रामलला के दर्शन कर गदगद हुए छत्तीसगढ़िया, इस योजना के तहत हर साल 20 हजार श्रद्धालु करेंगे दर्शन

रामकुमार नायक/रायपुर : छत्तीसगढ़ की विष्णु देव सरकार ने प्रदेशवासियों के लिए रामलला दर्शन योजना की शुरूआत की है, जिसके तहत प्रदेशवासियों को अयोध्या राम मंदिर के दर्शन कराए जा रहे हैं. इस योजना के तहत अब तक हजारों लोग रामलला के दर्शन कर चुके हैं. इस योजना के तहत तीर्थ यात्रियों को अयोध्या आने-जाने, रहने और खाना की पूरी व्यवस्था सरकार की तरफ से की गई थी. आपको बता दें कि योजना के तहत 20 हजार लोगों को हर साल अयोध्या दर्शन कराया जाएगा.

वहीं रामलला के दर्शन करने गए महासमुंद जिले के झारबंद गांव निवासी अश्विनी कुमार सिदार ने बताया कि कभी सोचे भी नहीं थे कि उन्हें अयोध्या रामलला के दर्शन करने जाने का मौका मिलेगा. जैसे ही उन्हें पता चला कि विष्णुदेव सरकार के योजना के अंतर्गत रामलला दर्शन करने अयोध्या जाने की सूची में उनका नाम था, तब खुशी से झूम उठे.

रामलला दर्शन के यात्रा के दौरान अश्विनी को सबसे ज्यादा अच्छा अयोध्या वालों का स्वागत कार्यक्रम लगा. उन्होंने बताया रामलला का मंदिर बहुत ही सुंदर और लाजवाब है, जहां पर अद्भुत नजारा देखने मिला. इसके अलावा अयोध्या का भोग भंडारा भी बहुत बेहतरीन था, जो कि 8 से 10 स्थानों पर भंडारा की व्यवस्था की गई थी. भंडारा में दो तरह की सब्जी, चावल, पूड़ी, मीठा की व्यवस्था थी. ट्रेन में भी सभी व्यवस्था बहुत बढ़िया थी. सरकार की इस योजना से अश्विनी को निःशुल्क में रामलला दर्शन करने का मौका मिला.

भंवरपुर गांव के निवासी कमलेश पटेल भी रामलला के दर्शन करने के लिए गए थे, उन्होंने बताया रामलला दर्शन के लिए सबसे पहले रायपुर रेलवे स्टेशन पहुंचकर अयोध्या के लिए रवाना हुए. अयोध्या पहुंचते ही उनका भव्य स्वागत किया गया. इसके बाद भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर का दर्शन किया. कमलेश अपने दोस्तों के साथ मिलकर कुल 14 लोग अयोध्या रामलला दर्शन करने गए थे. वहां जाने की खुशी में कमलेश नए कपड़े भी तैयार कराए थे.

दर्शन कर निकले खुशी के आंसू
वहीं केंदुवां गांव निवासी प्रमोद पटेल को भी अयोध्या राममंदिर के दर्शन करने का मौका मिला था, उन्होंने बताया कभी सपने में भी नहीं सोच सकते थे कि उन्हें अयोध्या राम मंदिर का दर्शन करने मौका मिलेगा. उनके पूर्वज बताते थे कि अयोध्या में भगवान राम का जन्म हुआ है वहां मंदिर है वहां टेंट में हैं. जब प्रमोद अयोध्या गए तब सिर्फ वे ही नहीं हजारों लोग के आखों से खुशी के आंसू निकल जाते थे. भगवान रामजी की प्रतिमा इतनी सुंदर है कि जितनी बार भी देखने से मन नहीं भरता था. सरकारी योजना का भरपूर सहायता मिला उन्हें किसी भी प्रकार का कोई पैसा नहीं देना पड़ा. घर वालों के लिए प्रसाद और प्रतिमा लेकर आये थे.

वीडियो कॉल से कराया गया दर्शन
मोहनलाल पटेल और महेंद्र कुमार पटेल का कहना है कि अयोध्या रामलला दर्शन करने जाने के लिए छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय हरी झंडी दिखाकर रवाना किए थे. ट्रेन में दो – दो बार चाय नाश्ता और भोजन की व्यवस्था निःशुल्क थी. सुरक्षा की दृष्टि से ट्रेन में पुलिस प्रशासन भी थे.

अयोध्या पहुंच टेंट में रुके थे. वहां भी किसी प्रकार की कोई अव्यवस्था नहीं थी. यात्रा के लिए कोई खर्च नहीं करना पड़ा जैसे ही मोहनलाल अपने घर पहुंचे तो घर वालों को अयोध्या के बारे में बताएं. इसके अलावा महेंद्र कुमार पटेल ने अयोध्या रामलला के दर्शन के दौरान घर वालों को वीडियो कॉल करके भगवान रामलला के भव्य मंदिर का दर्शन कराया.

Tags: Ayodhya News, Chhattisgarh news, Local18


Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

RECENT COMMENTS