Saturday, April 13, 2024
HomeBreaking Newsप्रेम में अंधी नाबालिग किशोरी ने अपने ही रिश्ते के दादा को...

प्रेम में अंधी नाबालिग किशोरी ने अपने ही रिश्ते के दादा को उतारा मौत के घाट।

ग्वालियर के माधौगंज थाना क्षेत्र के पिपरी कृष्णा विहार कॉलोनी में 29 मार्च को बक्से में बंद मिली होमगार्ड सैनिक की लाश के मामले में पुलिस ने चौंकाने वाला खुलासा किया है। इस हत्याकांड में गुनहगार और मास्टरमाइंड मृतक होमगार्ड सैनिक की नाबालिग पोती ही निकली है। 29 मार्च की अल सुबह बक्से में बंद लाश मिलने से सनसनी फैल गई थी। इस केस में पुलिस ने 29 मार्च को ही आरोपी नाबालिग पोती को पड़ोसी की घर की छत से गिरफ्तार कर लिया था। पुलिस इस सनसनीखेज हत्याकांड में लगातार इन्वेस्टिगेशन कर रही थी। पुलिस हत्या की मास्टरमाइंड और गुनहगार नाबालिग पोती से पूछताछ भी कर रही थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी इस बात का खुलासा हो चुका है।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट और तमाम सबूतों के आधार पर पुलिस ने बताया कि हत्या की आरोपी नाबालिग पोती ने पहले अपने दादा को अपने हाथों से हलवा बना कर खिलाया। इस हलवे में उसने नींद की गोली मिला दी थी। जैसे ही दादा को हलवा खाने पर नशा हुआ और लड़खड़ाए, वैसे ही उसने घर के कमरे में रखें एक बड़े बक्से में अपने दादा को धक्का दे दिया। इसके बाद आरोपी नाबालिग पोती अपने दादा के सीने पर बैठ गई और उसने गला दबाकर उनकी हत्या कर दी। बाद में बक्से को बंद कर दिया और तीन-चार दिन तक उसने हत्या की बात छुपा कर रखी। पुलिस का कहना है कि एक मामूली बात पर नाबालिग पोती ने अपने दादा को बेरहमी से मौत की नींद सुला दिया पोती अपने प्रेमी से मोबाइल फोन पर बात कर रही थी, यह बात दादा ने सुन ली थी और इस बात पर नाराजगी जताते हुए उन्होंने अपनी नाबालिग पोती को डांट फटकार लगाई थी।

बस यही बात पोती को नागवार गुजरी, बाद में उसने एक मनगढ़ंत कहानी बनाकर ग्वालियर से बाहर गांव में मौजूद अपने पिता महेश राठौर को घटनाक्रम की जानकारी दी। पिता की सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतक रिटायर्ड होमगार्ड सैनिक रामस्वरूप राठौर की सड़ी गली लाश बक्से से बरामद की। पुलिस पहले इस हत्याकांड में नाबालिग लड़की के बॉयफ्रेंड को भी शामिल मान रही थी। मृतक का बेटा महेश राठौर भी अपने पिता की हत्या में अपनी नाबालिग बेटी के प्रेमी का हाथ होने की बात कह रहे थे। लेकिन पुलिस का दावा है कि तमाम टेक्निकल एविडेंस और इन्वेस्टिगेशन में इस हत्याकांड में नाबालिग लड़की का प्रेमी शामिल नहीं था।

इसलिए उसे पूछताछ के बाद छोड़ दिया गया।फिलहाल नाबालिग लड़की को बाल संप्रेषण गए विदिशा भेज दिया गया है। पुलिस अभी इस हत्याकांड में उसके प्रेमी की भूमिका पर आगे विवेचना कर रही है। पुलिस का कहना है कि अगर तथ्य आएंगे तो उसके प्रेमी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल पुलिस ने उसके प्रेमी को इस केस में क्लीन चिट दे दी है। इस हत्याकांड से खून के रिश्तों पर भी दाग लगा है। प्रेम में अंधी नाबालिग ने अपने रिश्ते के दादा को मामूली डांट फटकार पर बेरहमी से मौत के घाट उतार दिया। उसके दादा को जरा भी अंदाजा नहीं था कि वह जिसे अपना समझ रहा है, जिसे वह सही रास्ता दिखा रहा है, वही उसकी खून की प्यासी बन जाएगी।

बाइट – निरंजन शर्मा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हेडक्वार्टर ग्वालियर.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

RECENT COMMENTS