Sunday, May 19, 2024
HomestatesChhattisgarhVillager returning after defecation was attacked, Bajru gathered courage and the crowd...

Villager returning after defecation was attacked, Bajru gathered courage and the crowd went – News18 हिंदी

अनूप पासवान/कोरबाः- इन दिनों कटघोरा वनमंडल के जंगल में हाथी के बाद तेंदुए की आमदरफ्त ने टेंशन बढ़ा दी है. वनकर्मी क्षेत्र के मतदाताओं को सूर्योदय के बाद और सूर्यास्त से पहले मतदान कर लौटने की समझाईश दे रहे थे, ताकि हाथी के हमले से बचा जा सके. लेकिन अब तेंदुआ से भी मतदाताओं की सुरक्षा चुनौती बन गई है. जंगल में विचरण कर रहे तेंदुए ने शौच से लौट रहे ग्रामीण पर हमला किया है. अपनी जान सांसत में देख ग्रामीण तेंदुआ से भिड़ गया. द्वंद के बाद तेंदुआ जंगल के भीतर भाग निकला, वहीं ग्रामीण गंभीर रूप से घायल हो गया. उसे अस्पताल दाखिल कराया गया है.

शौच के बाद घर लौटते वक्त हुआ हमला
दरअसल कटघोरा वनमंडल के पसान वन परिक्षेत्र अंतर्गत ग्राम अमलीकुंडा में बजरू उरांव 40 वर्ष परिवार सहित निवास करता है. उसकी बहन गोकुंडा (तनेरा) में रहती है, जिसके घर शनिवार को सगाई कार्यक्रम आयोजित था. बजरू ने लोकल18 को बताया कि वह कार्यक्रम में शामिल होने परिवार के साथ तनेरा गया था, जहां देर रात तक खाने-पीने का दौर चलता रहा. इसके बाद कार्यक्रम में आए मेहमान और घर के सदस्य सो गए. रविवार की तड़के बजरू की नींद खुल गई. वह शौच के लिए समीप ही जंगल की ओर चला गया. शौच के बाद जंगल से घर की ओर लौट रहा था. इसी बीच तेंदुआ ने उसपर हमला कर दिया.

एकाएक हुए हमले से वह घबरा गया. वह किसी तरह हिम्मत जुटा तेंदुए से भिड़ गया. करीब पांच मिनट तक चले द्वंद के बाद तेंदुआ जंगल की ओर भाग निकला. इस बीच तेंदुए ने बाएं पैर को बुरी तरह नोंच लिया था. वह खून से लथपथ घर की ओर लौट रहा था, तभी परिजन भी आ गए. उन्होंने बजरू को स्थानीय उपरोड़ा स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में दाखिल कराया, जहां से देर रात मेडिकल कॉलेज लाया गया.

ये भी पढ़ें:- कोई गणित में पाया 17 नंबर, तो किसी ने छुट्टियों में किया जमकर मेहनत, अब जेईई मेन में लहराया परचम

ग्रामीणों की बढ़ी चिंता
गौरतलब है कि कटघोरा वनमंडल के पसान, केंदई व जटगा रेंज में लंबे अर्से से हाथियों का अलग-अलग झुंड विचरण कर रहा है. हाथियों का झुंड आबादी वाले क्षेत्र में पहुंचकर फसलों के अलावा मकान और घर के भीतर रखे अनाज को नुकसान पहुंचा रहे हैं. क्षेत्र के ग्रामीणों में पहले से ही हाथी का खौफ है. अब जब लोकसभा चुनाव के लिए होने वाले मतदान से ठीक पहले तेंदुआ ने दस्तक दे दिया है, ऐसे में पहले से हाथी की निगरानी में लगे वनकर्मियों की परेशानी भी बढ़ गई है. बहरहाल तेंदुए के हमले से घायल ग्रामीण का उपचार मेडिकल कॉलेज अस्पताल में ट्रामा वार्ड में जारी है.

Tags: Chhattisgarh news, Korba news, Leopard attack, Local18


Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

RECENT COMMENTS